पेट की गर्मी खत्म कर दूंगा, योगी आदित्यनाथ ने कहा पेट दर्द के इलाज का बयान था, माइनॉरिटी वोट पर भी बोले

लव जिहाद कानून के मुद्दे पर योगी ने कहा कि कानून की नजर में सब बराबर है और कानून से खिलवाड़ करने की इजाजत किसी को नहीं है।

yogi adityanath , BJP , love jihad

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आजतक के साथ बातचीत में ‘पेट की गर्मी खत्म कर दूंगा’ वाले अपने विवादित बयान पर सफाई दी है। उन्होंने कहा है कि एक सदस्य ने कहा कि हमारे पेट में दर्द हो रहा है, तो मैंने उसके दर्द वाले बयान के जवाब में ही कहा था कि दर्द का इलाज करने के लिए ही तो मैं यहा आया हुआ हूं। योगी ने कहा कि सवाल उनका दर्द से जुड़ा हुआ था तो उत्तर भी हमारा दर्द का इलाज ही था।

गौरतलब है कि योगी आदित्यनाथ ने विधान परिषद में कहा था कि सपा के लोग ज्यादा गर्मी ना दिखाएं, जो जिस भाषा को समझता है, उसे उसी भाषा में समझाया जाएगा। उन्होंने कहा था कि सबके पेट का दर्द दूर कर दूंगा। जिसके बाद उनके बयान की जमकर आलोचना की गयी थी। हालांकि योगी ने ये भी कहा कि कोई राजनीतिक विरोधी हो सकते हैं लेकिन हमारी सबसे बातचीत होती है। मैं मुलायम सिंह के जन्मदिन पर उनका हालचाल लेने उनके घर जाता हूं।

लव जिहाद कानून के मुद्दे पर योगी ने कहा कि कानून की नजर में सब बराबर है और कानून से खिलवाड़ करने की इजाजत किसी को नहीं है। योगी आदित्यनाथ ने इस दौरान असलम नामक युवक की कहानी भी सुनाई जो लव जिहाद और हत्या का आरोपी है।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने कहा कि कोई भी यह नहीं कह सकता है यहां तक कि हमारा राजनीतिक विरोधी भी यह नहीं कह सकता है कि मोदी जी ने कोई योजना लागू की है तो किसी जाति या मजहब और क्षेत्र को ध्यान में रखकर किया होगा। हमलोगों का काम सबका साथ सबका विकास और सबके विश्वास के साथ जुड़ा रहा है।

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कुछ घटनाओं के कारण दो समुदाय के लोग भिड़ते हैं और दंगे भड़क जाते हैं। लेकिन हमने चार साल के दौरान कोई भी मजहबी दंगा नहीं होने दिया है। साथ ही उन्होंने कहा कि लव जिहाद कानून मुस्लिमों के खिलाफ नहीं है।