फाइनल से पहले सानिया मिर्जा ने की 7 घंटे ड्राइविंग, मां बनने के बाद भारतीय टेनिस स्टार के लिए बदल गई हैं ये शर्तें

भारतीय टेनिस स्टार सानिया मिर्जा को हाल ही में अपनी अमेरिका जोड़ीदार क्रिस्टीना मकेल के साथ क्लीवलैंड चैंपियनशिप के खिताबी मुकाबले में हार का सामना करना पड़ा। इसके बाद सानिया ने बताया कि वे अपने बेटे को छोड़कर ट्रैवल करने वालों में से नहीं हैं। इस कारण वे फाइनल के लिए 7 घंटे ड्राइव करके पहुंची।

sania-mirza-drove-7-hours-with-his-son-izhan-before-finals-of-cleveland-championship-plans-for-us-open-also-to-play-on-her-terms सानिया मिर्जा बेटे के साथ 7 घंटे ड्राइविंग करके खेलने पहुंची फाइनल मुकाबला (Source: Twitter)

क्लीवलैंड टेनिस चैंपियनशिप के फाइनल मुकाबले में अपनी अमेरिकी जोड़ीदार क्रिस्टीना मकेल के साथ हार झेलने के बाद सानिया मिर्जा ने खिताबी मुकाबले से पहले हुई परेशानी का जिक्र किया है। भारतीय टेनिस स्टार ने बताया कि फाइनल से पहले सात घंटे ड्राइव करके वे क्लीवलैंड से न्यूयॉर्क सिटी पहुंची। इस दौरान उनके साथ उनका तीन साल का बेटा इजहान भी था।

टाइम्स ऑफ इंडिया से बात करते हुए 34 वर्षीय भारतीय टेनिस स्टार ने बताया कि वे उन लोगों में से नहीं हैं जो अपने बच्चों को छोड़कर ट्रैवल करते हैं। बेबी होने के बाद वे टेनिस खेलना चाहती हैं लेकिन अपनी शर्तों पर। वे अपने हिसाब से चीजों को करना चाहती हैं। उन्होंने कहा कि वे ऐसा नहीं करना चाहती कि मैं जहां खेलूं वहां मेरा बेटा साथ ना हो, ये मेरे लिए बुरा सपना है।

सानिया ने बताया कि,’कई मां ऐसी होती हैं जो अपने बच्चों के साथ ट्रैवल नहीं करती हैं, लेकिन मैं वैसा नहीं करना चाहती। ये मेरा सोचना है इसलिए मेरे हिसाब से फ्लाइट से ज्यादा मेरे और बच्चे के लिए आज के हालातों में ड्राइविंग सेफ ऑप्शन है।’

गौरतलब है कि रविवार को सानिया मिर्जा क्लीवलैंड टेनिस चैंपियनशिप का खिताब जीतने से चूक गईं। सानिया और उनकी अमेरिकी जोड़ीदार क्रिस्टीना मकेल को महिला युगल के फाइनल मुकाबले में हार का सामना करना पड़ा। दोनों को शीर्ष वरीय जापानी शुको ओयामा और ऐना शिबाहरा के हाथों हार झेलनी पड़ी। सानिया-मकेल को फाइनल में 5-7, 3-6 से सीधे सेटों में शिकस्त मिली।  

आपको बता दें अपने करियर के सबसे सफल दौर में नंबर एक डबल्स रैंकिंग पर रहीं सानिया मिर्जा की इस हफ्ते की रैंकिग 123 है। इस सीजन में सानिया मिर्जा ने कुल 7 टूर्नामेंट के 14 मुकाबले खेले हैं जिसमें से 4 पिछले हफ्ते हुए थे। इसके अलावा ये सानिया का 12वां WTA फाइनल था। इसके अलावा सानिया ने कुल 63 बार डबल्स फाइनल खेले हैं जिसमें से 42 बार उन्होंने खिताब जीता है।

इस साल 6 अलग-अलग पार्टनर के साथ खेलने वाली सानिया आगामी यूएस ओपन में अमेरिका के कोको वंडेवेघे (Cocoa Vandeveghe) के साथ खेलेंगी। इसको लेकर सानिया ने कहा कि,’ये ही दुष्प्रभाव होते हैं कमबैक करने के। आपको हर हफ्ते एक नए पार्टनर के साथ खेलना पड़ता है। क्लीवलैंड में क्रिस्टीना के साथ ऑफ कोर्ट दोस्ती ने काफी मदद की। मुझे विश्वास है कोको के साथ भी वैसा ही रहेगा। जब आप चुनौतीपूर्ण माहौल में होते हैं तब आपको पता होता है कि आपका पार्टनर क्या करने वाला है। इसलिए हमें मौका मिला है और हम जितना अच्छा खेल सकते हैं खेलेंगे।’