फाइनेंशियल एक्सप्रेस के प्रबंध संपादक सुनील जैन का कोरोना वायरस से निधन

उनकी बहन संध्या जैन ने एक बयान में कहा, “मेरे भाई, सुनील जैन का शनिवार की शाम कोविड के बाद की जटिलताओं की वजह से निधन हो गया।”

Financial Express, Covid-19, Sunil Jain

फाइनेंशियल एक्सप्रेस के प्रबंध संपादक सुनील जैन का शनिवार को कोविड के बाद की जटिलताओं की वजह से निधन हो गया। वह 58 वर्ष के थे। उनकी बहन संध्या जैन ने एक बयान में कहा, “मेरे भाई, सुनील जैन, का आज शाम कोविड के बाद की जटिलताओं से निधन हो गया। उन्हें दिन में पहले कार्डियक अरेस्ट का सामना करना पड़ा, लेकिन फिर ठीक हो गए, और अंत में लगभग 8.30 बजे एक और कार्डियक अरेस्ट के बाद उनका निधन हो गया। एम्स के डॉक्टरों और सभी मेडिकल स्टाफ ने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया। इस मुश्किल घड़ी में हमारे साथ खड़े होने के लिए मैं आप सबको धन्यवाद देती हूं।”

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर सुनील जैन के निधन पर दुख व्यक्त किया। उन्होंने लिखा कि “आपने हमें बहुत जल्दी छोड़ दिया, सुनील जैन। मुझे आपके कॉलम पढ़ने और विविध मामलों पर आपके स्पष्ट और व्यावहारिक विचारों को सुनने की कमी खलेगी। आप अपने पीछे काम की एक प्रेरणादायी श्रेणी को छोड़कर गए हैं। आपके दुखद निधन से आज पत्रकारिता कमजोर हुई है। परिवार और दोस्तों के प्रति संवेदना। ओम शांति,” पीएम ने ट्वीट किया।

1986 में दिल्ली स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स से परास्नातक पूरा करने के बाद, जैन ने बाजार सर्वेक्षण और तकनीकी-आर्थिक व्यवहार्यता रिपोर्ट देने वाले सलाहकार के रूप में अपना करियर शुरू किया। बाद में वह फिक्की में शामिल हो गए जहां निर्यात नीति डेस्क के प्रभारी थे। उन्होंने 1991 में इंडिया टुडे पत्रिका में एक रिपोर्टर के रूप में अपना पत्रकारिता करियर शुरू किया और एक साल के लिए पत्रिका के बिजनेस एडिटर बने। इसके बाद वह द इंडियन एक्सप्रेस के लिए सभी व्यवसाय और अर्थव्यवस्था कवरेज के प्रमुख बन गए। एक्सप्रेस में छह साल काम करने के बाद वह आठ साल के लिए बिजनेस स्टैंडर्ड में चले गए और फिर एक्सप्रेस ग्रुप में द फाइनेंशियल एक्सप्रेस के सहायक संपादक के रूप में लौट आए।

फाइनेंशियल एक्सप्रेस के प्रबंध संपादक सुनील जैन के निधन पर देश की मीडिया और पत्रकारिता जगत के तमाम बड़े लोगों ने अपना दुख और संवेदना जताई है।