फिटनेस फ्रीक बन गए हैं स्टालिन, जिम में जमकर बहाते हैं पसीना, योग भी दिनचर्या का हिस्सा

कुछ दिन पहले तमिलनाडु के मुख्यमंत्री मामल्लपुरम की सड़क पर साइकिल चलाते हुए भी नज़र आए थे। इस दौरान वे स्थानीय लोगों के साथ सेल्फी भी ले रहे थे। अपने मुख्यमंत्री को इस तरह साइकल चलाते देख स्थानीय लोग हैरान रह गए थे।

MK Stalin Gym Video,MK Stalin Fitness Video, M k stalin, m k stalin movie, m k stalin brothers, m k stalin wife, m k stalin party, m k stalin net worth, karunanidhi, tamil nadu chief minister 2021, jansatta मुख्यमंत्री एम के स्टालिन इन दिनों फिटनेस फ्रीक बन गए हैं। (video screenshot)

तमिलनाडु में सत्तारूढ़ द्रविड़ मुन्नेत्र कड़गम (DMK) प्रमुख और राज्य के मुख्यमंत्री एम के स्टालिन इन दिनों फिटनेस फ्रीक बन गए हैं। उनका एक वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है। जिसमें वे जिम में कसरत करते नज़र आ रहे हैं।

कुछ दिन पहले तमिलनाडु के मुख्यमंत्री मामल्लपुरम की सड़क पर साइकिल चलाते हुए भी नज़र आए थे। इस दौरान वे स्थानीय लोगों के साथ सेल्फी भी ले रहे थे। अपने मुख्यमंत्री को इस तरह साइकल चलाते देख स्थानीय लोग हैरान रह गए थे। इस दौरान एम के स्टालिन चाय पीने के लिए सड़क किनारे एक स्टॉल पर भी रुके थे। कुछ दिन पहले एनडीटीवी से बात करते हुए स्टालिन ने योग को अपनी दिनचर्या का हिस्सा बनाने की बात कही थी।

दिनचर्या पर बात करते हुए स्टालिन ने कहा था, “मैं काम में काफी व्यस्त रहता हूं, मैं अपने पोते-पोतियों के साथ समय का आनंद लेता हूं और आराम करता हूं। मैं जल्दी उठता हूं, टहलने जाता हूं, योग करता हूं। मैं 10 दिनों में एक बार साइकिल चलाता हूं। ये मेरे शारीरिक व्यायाम हैं। मुझे नहीं लगता मैं बहुत व्यस्त होने पर भी थक जाता हूं।”

स्टालिन को कर्नाटक संगीत सुनना पसंद है। वे अक्सर यही सुनते हैं। बता दें महज 14 साल की उम्र में ही स्टालिन ने अपने राजनीतिक सफर की शुरुआत की। वो साइकिल से चाचा मुरासोली मारन का प्रचार किया करते थे। वहीं साल 1984 में वो अपना पहला विधानसभा चुनाव हारे, लेकिन साल 1989 में उतनी ही ताकत से उन्होंने जीत दर्ज की। हालांकि, राजीव गांधी की हत्या के बाद साल 1991 में स्टालिन हार गए।

साल 1996 में वे चेन्नई के पहले सीधे निर्वाचित मेयर बने। इस दौरान उन्होंने ब्यूटिफुल चेन्नई प्रोजेक्ट की शुरुआत की थी और जब इसकी लोकप्रियता बढ़ी तो उन्हें मानगर थानथाई यानी फादर ऑफ सिटी कहा जाने लगा। साल 2006 में डीएमके की सरकार में वे उपमुख्यमंत्री भी रहे।

स्टालिन जब 1984 में पहला विधानसभा चुनाव हारे थे, तो इसके बाद उन्होंने दो फिल्मों और धारवाहिक में अभिनय किया। जहां फिल्म ‘ओरे रथम’ में उन्होंने दलित शहीद का किरदार निभाया, तो वहीं टीवी सारियल ‘कुरिनजी मलार’ से भी उन्हें काफी लोकप्रियता मिली और वे चुनाव जीत गए।