‘फ्रेंडशिप’ को लेकर सुर्खियों में हरभजन सिंह; भज्जी से पहले ये दिग्गज क्रिकेटर्स भी आजमा चुके हैं फिल्मों में भाग्य, जानिए कितने रहे सफल

हरभजन सिंह से पहले भी कई क्रिकेटर्स हैं, जिन्होंने फिल्मी दुनिया में हाथ आजमाने की कोशिश की। हालांकि, कुछ को छोड़कर ज्यादातर रुपहले पर्दे उतनी चमक नहीं बिखेर पाए, जितनी उन्होंने क्रिकेट में बिखेरी थी।

Harbhajan Singh Movie Actor Debut

भारत के दिग्गज स्पिनर हरभजन सिंह अपनी आने वाली फिल्म ‘फ्रेंडशिप’ को लेकर सुर्खियों में हैं। एक मार्च को ‘फ्रेंडशिप’ का टीजर रिलीज किया गया। हरभजन सिंह टीजर में अलग-अलग किरदार निभाते दिख रहे हैं। इसमें वह कभी एक्शन हीरो की तरह लड़ाई करते, कभी रोमांटिक भूमिका निभाते हुए लुंगी डांस करते और कभी भावुक होते दिख रहे हैं। फिल्म के टीजर को फैंस काफी पसंद कर रहे हैं।

हरभजन फिल्म के एक सीन में क्रिकेट की गेंद पकड़े हुए भी दिख रहे हैं। हरभजन सिंह की यह फिल्म तीन भाषाओं (तमिल, तेलुगु और हिंदी) में रिलीज होगी। फिल्म ‘फ्रेंडशिप’ के इसी साल रिलीज होने की उम्मीद है। हरभजन इससे पहले 2013 में पंजाबी फिल्म में अभिनय कर चुके हैं। उस फिल्म में हरभजन ने एक पुलिसकर्मी का किरदार निभाया था। उसके बाद वह कई टीवी शो में भी नजर आए थे। बता दें कि हरभजन को क्रिकेट के अलावा एक्टिंग का भी शौक है। हालांकि, देखने वाली बात यह होगी कि उनकी ‘फ्रेंडशिप’ दर्शकों को कितनी पसंद आती है?

हरभजन सिंह से पहले भी कई क्रिकेटर्स हैं, जिन्होंने फिल्मी दुनिया में हाथ आजमाने की कोशिश की। हालांकि, कुछ को छोड़कर ज्यादातर रुपहले पर्दे उतनी चमक नहीं बिखेर पाए, जितनी उन्होंने क्रिकेट में बिखेरी थी। भारतीय क्रिकेटर्स की फिल्मों में काम करने की बात करें तो उनमें कपिल देव, सुनील गावस्कर, सचिन तेंदुलकर के नाम भी शामिल हैं।

  • सात टेस्ट मैच में दो दोहरे और दो शतक लगाने वाले विनोद कांबली का क्रिकेट करियर काफी छोटा रहा। उन्होंने 2002 में संजय दत्त और सुनील शेट्टी स्टार कास्ट वाली फिल्म ‘अनर्थ ‘ में काम किया। हालांकि, इसके बाद वह किसी मूवी या सीरियल में दिखाई नहीं दिए।
  • महान सुनील गावस्कर ने एक मराठी फिल्म ‘सांवली प्रेमांची’ में लीड रोल निभाया था। हालांकि, उन्हें खास प्रशंसा नहीं मिली। उन्होंने हिंदी फिल्म ‘मालामाल’ में भी गेस्ट रोल किया था।
  • निर्देशक विजय सिंह की रोमांटिक ड्रामा फिल्म कभी अजनबी (1985) में संदीप पाटिल और सैयद किरमानी ने अभिनय किया। संदीप पाटिल लीड रोल में थे। किरमानी ने फिल्म में विलेन का किरदार निभाया था। बॉक्स ऑफिस पर यह फिल्म हिट रही थी। इसके बावजूद पाटिल और किरमानी का फिल्मी करियर लंबा नहीं खिंच पाया।
  • पांच साल का बैन लगने के कारण अजय जडेजा ने बॉलीवुड की शरण ली थी। अजय ने सनी देओल, सलीना जेटली ओर सुनील शेट्टी के साथ ‘खेल’ फिल्म में काम किया। हालांकि, बॉलीवुड ने उन्हें भी स्वीकार नहीं किया। अब वह क्रिकेट विश्लेषक और कमेंटेटर के तौर पर काम कर रहे हैं।
  • भारत को पहली बार वर्ल्ड कप दिलाने वाले महान कप्तान कपिल देव अनेक फिल्मों में दिखायी दिए हैं, लेकिन किसी में भी उन्होंने लीड रोल नहीं निभाया। उन्होंने ‘इकबाल,’ ‘स्टंप्ड और ‘चैन खुली की मैन खुली’ जैसी अनेक फिल्मों में काम किया।
  • क्रिकेट की दुनिया के बादशाह सचिन तेंदुलकर की बायोपिक ‘सचिन: अ बिलियन ड्रीम्स’ 2017 में रिलीज हुई थी। इस फिल्म में सचिन का किरदार खुद मास्टर ब्लास्टर ने ही निभाया था। हालांकि, यह फिल्म बॉक्स ऑफिस पर ज्यादा हिट नहीं हुई।
  • सलिल अंकोला भी इनमें से एक हैं। सलिल और सचिन ने टेस्ट क्रिकेट में एक ही मैच से डेब्यू किया था। हालांकि, वह क्रिकेट जगत में अपनी खास पहचान नहीं बना पाये। उन्होंने बॉलीवुड का रुख किया। उन्होंने ‘पिता’, ‘चुरा लिया है तुमने’ और ‘कुरुक्षेत्र’ जैसी फिल्मों में काम किया। बॉलीवुड में कामयाबी नहीं मिलने पर उन्होंने छोटे पर्दे का सहारा लिया। उन्होंने ‘करम अपने अपने’ जैसे सीरियल्स किए।
  • युवराज सिंह के पिता योगराज सिंह को चोट के कारण अपने क्रिकेट करियर को अलविदा कहना पड़ा था। इसके बाद उन्होंने पंजाबी फिल्मों में अपनी किस्मत आजमाई। किस्मत ने उनका साथ दिया। वह अब तक कई हिंदी और फिल्मों में अभिनय कर चुके हैं।

इनके अलावा सलीम दुर्रानी, एस श्रीसंत, वीवीएस लक्ष्मण, कृष्णामाचारी श्रीकांत, सदागोपन रमेश और युवराज सिंह भी फिल्म में काम कर चुके हैं, लेकिन उन्हें फिल्मी दुनिया में कोई खास पहचान नहीं मिली।