बंगालः समझ नहीं आ रहा…पहले से ही छोड़ा हुआ था तो बेवजह में उन्हें उलझा रहे थे- ऐंकर का सवाल, देखें- PK ने क्या दिया जवाब?

बिहार में अपनी राजनीतिक पार्टी बनाने के सवाल को वो टाल गए। आईपैक बंद करने के सवाल पर उनका कहना था कि ये फैसला वो अकेले नहीं ले सकते। अब इसे टीम ही चलाएगी। उनका कहना था कि आईपैक उनके अकेले की वजह से नहीं था।

aajtak, prashant kishore, bengal election, pm modi mamata banerjee

प्रशांत किशोर का कहना है कि चुनावी रणनीतिकार का काम छोड़ने को लेकर कहीं कोई पशोपेश नहीं है। उन्होंने दिसंबर में ही कहा था कि बीजेपी सौ सीटों तक नहीं पहुंचेगी। उन्होंने तब कहा था कि अगर ऐसा होता है तो वो ये काम छोड़ देंगे। दरअसल, एंकर ने उनसे सवाल किया था कि ये समझ नहीं आ रहा कि जीत के बाद अपना काम क्यों छोड़ रहे हैं। पहले से तय था तो बेमतलब में क्यों उलझा रहे थे?

तृणमूल की जीत की तीन बड़ी वजहों पर उनका कहना था कि जीत कई फैक्टर्स की वजह से होती है। बीजेपी ने 2019 लोकसभा चुनाव के कैपेंन को ही आगे बढ़ाया, लेकिन 2019 से 2021 के बीच बंगाल में बहुत सारे बदलाव हुए थे। बीजेपी उनका अनुमान नहीं लगा सकी। यही वजह रही कि उसे असेंबली चुनाव में औंधे मुंह गिरना पड़ा।

प्रशांत का कहना था कि लोग कह रहे थे कि वो झूठ बोल रहे हैं। बीजेपी की सौ सीटें आन जाएंगी तो भी ये अपना काम नहीं छोड़ेंगे, लेकिन वो ये काम तब छोड़ रहे हैं जब टीएमसी दो सौ के पार चली गई। उन्होंने पहले ही कहा था कि बीजेपी 40 फीसदी वोट लाकर भी उम्मीद के मुताबिक जीत हासिल नहीं कर सकेगी, क्योंकि यहां दो ध्रुवीय चुनाव था।

उनका कहना था कि 2019 के लोकसभा चुनाव में तृणमूल के कमजोर प्रदर्शन की वजह ममता बनर्जी का आत्मविश्वास था। उन्होंने बीजेपी को गंभीरता से नहीं लिया। पीके का कहना था कि क्लब हाउस चैट लीक होने पर भी उन्होंने कहा था कि अति आत्म विश्वास हमेशा घातक होता है। उन्होंने फिर से कहा कि मोदी जी आज भी लोकप्रिय हैं। बंगाल में जो भी वोट बीजेपी को मिले वो मोदी की वजह से हैं। उनका कहना था कि पापुलर होने से ही जीत नहीं मिल सकती। सामने वाला ज्यादा लोकप्रिय होगा तो आपको हार मिलेगी ही।

बिहार में अपनी राजनीतिक पार्टी बनाने के सवाल को वो टाल गए। आईपैक बंद करने के सवाल पर उनका कहना था कि ये फैसला वो अकेले नहीं ले सकते। अब इसे टीम ही चलाएगी। उनका कहना था कि आईपैक उनके अकेले की वजह से नहीं था। यह एक टीम वर्क था। टीम अभी तक काम कर रही है और वो ही इसे चलाएगी।