बंगाल चुनाव: आयोग से मिले BJP नेता, कुछ देर बाद आया एडीजी को हटाने का ऑर्डर; ममता ने हफ्ता भर पहले ही किया था तैनात

चुनाव आयोग के एक सूत्र ने बताया कि चुनावों के मद्देनजर आने वाले दिनों में कुछ और पुलिस अफसरों को ट्रांसफर किया जा सकता है।

West Bengal, ADG Law and Order

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव की तारीखों की घोषणा करने के एक दिन बाद ही चुनाव आयोग ने अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) जावेद शमीम को उनके पद से हटा दिया। आयोग ने उनकी जगह पर जग मोहन को नियुक्त किया। एक आधिकारिक आदेश में शनिवार को यह जानकारी दी गई। इस आदेश के अनुसार, 1995 बैच के आईपीएस अधिकारी शमीम को मोहन की जगह महानिदेशक (अग्निशमन विभाग) बनाया गया है। उनका रैंक एडीजी का ही होगा।

बताया गया है कि इस फेरबदल से कुछ घंटे पहले भाजपा का एक प्रतिनिधिमंडल मुख्य निर्वाचन अधिकारी (CEO) आरिज आफताब से मिला था और उनसे ‘पक्षपाती’ पुलिस अधिकारियों को चुनाव ड्यूटी से हटाने की अपील की थी। इस प्रतिनिधिमंडल में सांसद स्वपन दासगुप्ता एवं अर्जुन सिंह शामिल थे।

दासगुप्ता ने कहा था- “बंगाल में जिस तरह पुलिस काम कर रही है, उससे स्पष्ट है कि यहां निष्पक्ष चुनाव संभव नहीं है। हम कुछ पुलिस अधिकारियों का नाम भी बता सकते हैं, जो अगर अपने पदों पर बने रहते हैं तो निष्पक्ष चुनाव संभव नहीं है।’’ उन्होंने कहा था कि इसी मुद्दे को लेकर वे मुख्य निर्वाचन अधिकारी से मिलने पहुंचे थे।

चुनाव आयोग के एक सूत्र ने बताया कि आने वाले दिनों में कुछ और पुलिस अफसरों को ट्रांसफर किया जा सकता है। बता दें कि पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार ने विधानसभा चुनाव से पहले इसी महीने शमीम को राज्य का अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) बनाया था। उससे पहले वह कोलकाता पुलिस के विशेष पुलिस आयुक्त (द्वितीय) थे।

इससे पहले भारतीय निर्वाचन आयोग ने शनिवार को ही पंजाब के 38 IAS और 16 IPS अधिकारियों को पर्यवेक्षक के तौर पर पांच राज्यों असम, केरल, तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल और केंद्रशासित प्रदेश पुडुचेरी के चुनावों में पर्यवेक्षक नियुक्त किया है। पश्चिम बंगाल में इस बार आठ चरणों में विधानसभा चुनाव होंगे। पिछली बार सात चरणों में विधानसभा चुनाव हुए थे।