बस रोककर हाइवे पर पढ़ी नमाज… यूपी में बवाल के बाद पुलिस ने काटा चालान

शाहजहांपुर में नेशनल हाइवे पर नमाज पढ़ने वाले लोगों पर पुलिस ने चालानी कार्रवाई की है. पुलिस ने बताया कि पश्चिम बंगाल से राजस्थान जा रही बस में सवार कुछ लोगों ने शाहजहांपुर में सड़क पर नमाज पढ़ी थी. इन सभी का चालान काटकर वापस भेज दिया गया.

जानकारी के मुताबिक, ये सभी लोग पश्चिम बंगाल के 24 परगना जिले के रहने वाले थे और बस से राजस्थान के अजमेर जा रहे थे. बस जब शाहजहांपुर में नेशनल हाइवे 24 पर पहुंची, तो इन्होंने सड़क किनारे उतरकर नमाज पढ़ी. पुलिस का कहना है कि ये घटना रविवार रात की है.

वीएचपी ने काटा बवाल

सड़क पर नमाज पढ़ने की खबर जैसे ही फैली, वैसे ही विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ताओं ने हंगामा शुरू कर दिया. इसके बाद पुलिस ने मौके पर पहुंचकर 17 नमाजियों का चालान काटा. साथ ही बस का भी चालान काटा और फिर वापस भेज दिया. 

बताया जा रहा है कि हाइवे पर सड़क किनारे लोगों ने चादर बिछाकर नमाज पढ़नी शुरू कर दी. उसी समय वहां से गुजर रहे विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ताओं ने इसका वीडियो बना लिया और हंगामा शुरू कर दिया. 

पुलिस ने काटा चालान

हंगामा होने के बाद जब पुलिस मौके पर पहुंची, तो नमाज पढ़ने वाले सभी लोगों को बस में बैठाकर थाने ले जाया गया. वहां 17 नमाजियों का शांति भंग करने के मामले में चालान काटा गया. 

वहीं, नमाज पढ़ रहे लोगों का कहना है कि उन्हें उत्तर प्रदेश के नियम मालूम नहीं थे, इसलिए उनसे ऐसी गलती हुई.

यूपी में सड़क पर धार्मिक आयोजनों पर रोक है

उत्तर प्रदेश में सड़क पर किसी भी प्रकार का धार्मिक आयोजन करने पर रोक है. यूपी सरकार ने अगस्त 2019 में इस पर रोक लगा दी थी. इसके तहत सड़क पर न तो नमाज पढ़ी जा सकती है और न ही कोई धार्मिक आयोजन हो सकता है.

यूपी सरकार के नियम के मुताबिक, किसी खास दिन या त्योहार पर जिला प्रशासन सड़क पर नमाज पढ़ने या धार्मिक आयोजन करने की इजाजत दे सकता है. लेकिन बाकी दिनों में सड़क पर नमाज पढ़ने पर पूरी तरह रोक है. 

सिर्फ नमाज ही नहीं, बल्कि और दूसरे धर्म के लोग भी सड़क पर पूजापाठ, जमावड़ा या कोई ऐसा धार्मिक आयोजन नहीं कर सकते, जिससे आम लोगों को परेशानी हो और ट्रैफिक पर असर पड़े.