बाबर आजम ने रचा इतिहास, ICC ने दिया खास अवॉर्ड; जिम्बाब्वे से पाकिस्तान लगातार तीसरी टेस्ट सीरीज जीता

जिम्बाब्वे पर पाकिस्तान की ये लगातार तीसरी सीरीज जीत है। उसने 2002-03 में 2-0 और 2011 में 1-0 से सीरीज अपने नाम किया था। 2013 में दो टेस्ट मैचों की सीरीज 1-1 से बराबर रहा था। जिम्बाब्वे को पाकिस्तान के खिलाफ टेस्ट में आखिरी सीरीज जीत 1998-99 में मिली थी।

Babar Azam

पाकिस्तान ने दो टेस्ट मैचों की सीरीज में जिम्बाब्वे को 2-0 से हराकर सीरीज अपने नाम कर लिया। उसने सोमवार को दूसरे टेस्ट के चौथे दिन (सोमवार) पारी और 147 रन से मेजबान टीम को हरा दिया। पाकिस्तान के कप्तान बाबर आजम ने इस जीत के साथ इतिहास रच दिया। वे कप्तान के तौर पर शुरुआती चार सीरीज जीतने वाले पहले पाकिस्तानी बल्लेबाज बन गए। साथ ही सोमवार को ही आईसीसी ने बाबर को अप्रैल महीने के लिए प्लेयर ऑफ द मंथ चुना।

जिम्बाब्वे पर पाकिस्तान की ये लगातार तीसरी सीरीज जीत है। उसने 2002-03 में 2-0 और 2011 में 1-0 से सीरीज अपने नाम किया था। 2013 में दो टेस्ट मैचों की सीरीज 1-1 से बराबर रहा था। जिम्बाब्वे को पाकिस्तान के खिलाफ टेस्ट में आखिरी सीरीज जीत 1998-99 में मिली थी। हरारे में पाकिस्तान को चौथे दिन जीत के लिए केवल एक विकेट की जरूरत थी। शाहीन शाह अफरीदी ने दिन के पांचवें ओवर में ही ल्यूक जोंगवे (37) को विकेटकीपर मोहम्मद रिजवान के हाथों कैच कराकर जीत की औपचारिकता पूरी की।

जिम्बाब्वे ने सुबह अपनी दूसरी पारी नौ विकेट पर 220 रन से आगे बढ़ाई और केवल 11 रन जोड़कर उसकी टीम 231 रन पर आउट हो गई। अफरीदी ने 52 रन देकर पांच विकेट लिए। दूसरी पारी में उनके अलावा नौमान अली (86 रन देकर पांच) ने भी पांच विकेट लिए। हसन अली ने पहली पारी में पांच विकेट लिए थे। जिम्बाब्वे पहली पारी में केवल 132 रन बना पाया था और उसे फालोऑन के लिए मजबूर होना पड़ा था।

पाकिस्तान ने सलामी बल्लेबाज आबिद अली के नाबाद 215 और अजहर अली के 126 रन की मदद से अपनी पहली पारी आठ विकेट पर 510 रन बनाकर समाप्त घोषित की थी। पाकिस्तान ने इसी मैदान पर खेला गया पहला टेस्ट मैच पारी और 116 रन से जीता था। पाक टीम ने दौरे पर जिम्बाब्वे को टी20 सीरीज में हराया था। उसने इससे पहले दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वनडे और टी20 सीरीज भी अपने नाम किया था।