बिहार के हर जिले में BJP नेतृत्व लेता है गतिविधियों पर डेली रिपोर्ट, हर महीने कम से कम ऑनलाइन 45 मीटिंग लेते हैं प्रदेश पार्टी प्रमुख

कोरोना काल ने बिहार बीजेपी के हर कार्यकर्ता को ऑनलाइन बैठकों के साथ सहज बना दिया है और अब इसका इस्तेमाल पार्टी के विस्तार से जुड़े कार्यक्रमों के लिए किया जा रहा है।

bihar, bjp, coronavirus तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

कोरोना वायरस संकट के दौरान अधिकतर क्षेत्रों में काम को सुगम बनाने के लिए जो ऑनलाइन ढांचा विकसित हुआ, वह सियासी दलों के लिए भी खासा कारगर साबित हुआ। महामारी काल में बिहार में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) को ऑनलाइन मीटिंग्स ने पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं से जोड़े रखने में खासा मदद की।

प्रदेश पार्टी प्रमुख संजय जायसवाल (जिन्होंने रोजाना हर जिला नेतृत्व के साथ ऑनलाइन बैठकें की थीं) अब प्रत्येक दिन शाम से पहले पार्टी की गतिविधियों पर दैनिक रिपोर्ट हासिल करते हैं। वह हर महीने कम से कम 45 बैठकें ऑनलाइन हर जिले की टीम के साथ करते हैं (फिजिकल बैठकों के अलावा उन्होंने फिर से इन्हें शुरू किया है), जबकि उनके महासचिव महीने में कम से कम 100 बैठकें करते हैं।

कोरोना काल ने बिहार बीजेपी के हर कार्यकर्ता को ऑनलाइन बैठकों के साथ सहज बना दिया है और अब इसका इस्तेमाल पार्टी के विस्तार से जुड़े कार्यक्रमों के लिए किया जा रहा है। बता दें कि जायसवाल मूल रूप से पश्चिमी चंपारण के बेतिया के हैं। पेशे से वह मेडिकल प्रैक्टिशनर और किसान रहे हैं।