बीएसएफ का जवान भी आतंकियों, माओवादियों को करता था हथियार सप्लाई! पांच की गिरफ्तारी

पुलिस के अनुसार आतंकियों को हथियार सप्लाई करने के आरोप में गिरफ्तार किए गए बीएसएफ के हेड कांस्टेबल की पहचान झारखंड निवासी कार्तिक बेहरा के रूप में हुई है। पुलिस ने पंजाब के फिरोजपुर में बीएसएफ 116 बटालियन परिसर से चोरी किए गए गोला-बारूद भी बरामद किया है।

तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (एक्सप्रेस प्रतीकात्मक फोटो)

झारखंड पुलिस के आतंकवाद निरोधी दस्ते(एटीएस) को बड़ी कामयाबी मिली है। एटीएस ने देशभर में माओवादी कैडरों और आतंकवादी गिरोहों को हथियार और गोला बारूद सप्लाई करने के मामले में बीएसएफ के हेड कांस्टेबल सहित पांच लोगों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार किए गए लोगों में बीएसएफ जवान के अलावा रिटायर्ड बीएसएफ कर्मचारी भी शामिल है।

आतकंवादी निरोधी दस्ते को एक पखवाड़े से भी कम समय में दूसरी बार सफलता मिली है। करीब 10 दिन पहले झारखंड पुलिस के ही आतंकवाद निरोधी दस्ते ने आतंकवादी और प्रतिबंधित संगठनों को कथित तौर पर हथियार और गोला बारूद सप्लाई करने के मामले में एक सीआरएफ जवान और तीन अन्य को गिरफ्तार किया था।

पुलिस के द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार आतंकियों को हथियार सप्लाई करने के आरोप में गिरफ्तार किए गए बीएसएफ के हेड कांस्टेबल की पहचान झारखंड निवासी कार्तिक बेहरा के रूप में हुई है। पुलिस ने पंजाब के फिरोजपुर में बीएसएफ 116 बटालियन परिसर से चोरी किए गए गोला-बारूद, मैगजीन और डेटोनेटर भी बरामद किया है। आरोपी बीएसएफ जवान पंजाब के बीएसएफ 116 बटालियन में ही तैनात था।

वहीं रिटायर्ड बीएसएफ जवान की पहचान बिहार के रहने वाले अरुण कुमार सिंह के रूप में हुई है। अरुण कुमार सिंह भी पहले 116 बटालियन में ही तैनात था। इसके अलावा एटीएस ने मध्यप्रदेश के रहने वाले कुमार गुरलाल, शिवलाल धवल सिंह चौहान और हिरला गुमान सिंह को भी हथियार सप्लाई करने के मामले में गिरफ्तार किया है।