बेवजह घूमने वाले को मारी थी लात, अब कोरोना मरीज को लेने गए तो खुद पिट गए तहसीलदार

तहसीलदार बजरंग बहादुर सिंह व पटवारी प्रदीप चौहान कोरोना संक्रमित मरीज को लेने उसके गांव पहुंचे थे। तभी तहसीलदार और पटवारी को मरीज व उसके बेटे ने चांटे- मुक्के मारे। पुलिस ने दोनों आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज़ कर लिया है।

tehsildarm beatenm covid positivem Indore, madhya pradesh, tehsildar kicking curfew violator, public procession on drum beats, MP Human Rights Commission, madhya pradesh corona curfew update, frog race of curfew violator, fir on depalpur tehsildar bajrang bahadur, depalpur tehsildar kicking curfew violator, jansatta

मध्य प्रदेश के इंदौर जिले के खजराया गांव में रहने वाले एक शख्स ने अपने बेटे के साथ मिलकर देपालपुर तहसीलदार और पटवारी जी जमकर धुनाई की। दरअसल शख्स कोरोना से संक्रमित था और तहसीलदार बजरंग बहादुर सिंह व पटवारी प्रदीप चौहान उसे लेने उसके गांव पहुंचे थे। तभी तहसीलदार और पटवारी को मरीज व उसके बेटे ने चांटे- मुक्के मारे। पुलिस ने दोनों आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज़ कर लिया है।

दरअसल बुधवार की शाम को तहसीलदार बजरंग बहादुर सिंह और पटवारी प्रदीप चौहान एक टीम लेकर खजराया गांव पहुंचे। वे 52 वर्षीय गब्बू को कोविड सेंटर में भर्ती करने के लिए गए थे। गब्बू पिछले तीन दिनों से कोरोना संक्रमित था। तहसीलदार को देख गब्बू भागने लगा। टीम ने उए रोकने की कोशिश की। लेकिन तभी उसका 25 वर्षीय बेटा अर्जुन आया और तहसीलदार पर चांटे- मुक्के बरसाने लगा।

तहसीलदार को पिटता देख पटवारी प्रदीप चौहान ने उन्हें बचाने की कोशिश की। तभी गब्बू भागता हुआ आया और पटवारी को मारना शुरू कर दिया। दोनों आरोपियों के खिलाफ सरकारी काम में बाधा और मारपीट का प्रकरण दर्ज़ किया गया है। वहीं तहसीलदार और पटवारी को चोट आई हैं। उन्हें उपचार के लिए अस्पताल ले जाया गया।

तहसीलदार बजरंग बहादुर सिंह का कुछ दिन पहले एक वीडियो भी वायरल हुआ था। जिसमें वे एक शख्स को लाट मारते दिखाई दे रहे थे। वायरल वीडियो में तहसीलदार कोरोना कर्फ्यू तोड़ने वाले लोगों का ढोल के साथ जुलूस निकाल रहे हैं। इस दौरान तहसीलदार ने आरोपियों को मेंढक बनकर चलने को कहा।

एक आदमी इस तरीके से नहीं चल पा रहा था, तो तहसीलदार ने पीछे से आकर उसे लात मारी है। सोशल मीडिया पर वीडियो सामने आने के बाद मनावाधिकार आयोन ने इस पर संज्ञान लिया था। बजरंग बहादुर अपने बर्थडे केक को लेकर भी चर्चा में थे। दिसबंर 2017 में उन्होंने तलवार से केक काटा था और युवक ने हवा में पिस्टल से फायरिंग की थी।