ब्यूटी क्वीन को ‘बहुत सुंदर’ होने की वजह से नौकरी से निकाला, पीड़िता ने फेसबुक पर सुनाई आपबीती

पूर्व मॉडल 27 वर्षीय क्लाउडिया अर्देलियन का आरोप है कि वह पद के लिए योग्यता रखती है, लेकिन प्रबंधन ने उनकी सुंदरता देखी, योग्यता को नहीं पहचाना।

Romania, former model, Claudia Ardelean

इंसान में अच्छाई होनी अच्छी बात है लेकिन अति अच्छा होना कभी-कभी मुसीबत बन जाता है। यूरोपीय देश रोमानिया की एक पूर्व मॉडल 27 वर्षीय क्लाउडिया अर्देलियन ने कुछ दिन पहले न्यूमोफिथियोलॉजी क्लीनिकल हॉस्पिटल में अपनी नौकरी मिलने की खुशी का इजहार अपने सोशल मीडिया पर पोस्ट करके किया था, लेकिन इस पोस्ट से लोगों में यह संदेश गया कि वह सुंदर है, इसलिए उसे नौकरी मिल गई। सोशल मीडिया पर कई लोगों ने उसे ट्रोल किया। लोगों ने कहा कि सुंदरता से नौकरी मिली है योग्यता से नहीं। इसके बाद उसे अस्पताल के मैनेजमेंट ने उसे इस्तीफा देने के लिए विवश किया। मैनेजमेंट का कहना है कि उसकी वजह से आम लोगों में अस्पताल की छवि खराब हुई। लोगों ने मान लिया कि क्लाउडिया को सुंदर होने की वजह से नौकरी दी गई है।

नौकरी छोड़ने के बाद खुद क्लाउडिया ने दावा किया कि उसे सुंदर होने की वजह से ही नौकरी मिली थी। फेसबुक पर अपनी आपबीती बताते हुए क्लाउडिया ने लिखा कि उसे अस्पताल की नौकरी से निकाल दिया गया। कहा कि उसके लिए बहुत सुंदर होना मुसीबत बन गया है।

पूर्व मॉडल और ब्यूटी क्वीन क्लाउडिया अर्देलियन काफी शिक्षित हैं तथा लॉ और यूरोपियन एथिक्स में स्नातक हैं। उनका आरोप है कि वह पद के लिए योग्यता रखती है, लेकिन प्रबंधन ने उनकी सुंदरता देखी, योग्यता को नहीं पहचाना। इसलिए उन्हें निकाल दिया गया। अब वह बतौर वकील एक निजी कंपनी में अपनी सेवा दे रही है। उनका कहना है कि वह एक उद्यमी भी हैं। उनके पास होस्टेस की एजेंसी और इवेंट मैनेजमेंट कंपनी भी है। लेकिन बदकिस्मती से रोमानिया अब भी पुरातपंथी और पूर्वाग्रह से ग्रसित देश है। इसके चलते उनके मामले में सही ढंग से सोच-विचार नहीं किया गया।

उन्होंने कहा कि वह अपने मामले मेंं अस्पताल के प्रबंधन के रवैए से अचंभित हैं। बहरहाल उन्होंने कुछ लोगों के प्रति शुक्रिया भी जताई। फेसबुक पर लिखा “मैं क्लूज नेशनल लिबरल पार्टी के समर्थन और भरोसा के लिए शुक्रगुजार हूं!”

मैनेजमेंट देखने वाले क्लूज सिटी काउंसिल के अध्यक्ष ने मीडिया को बताया कि क्लाउडिया को नौकरी से निकालने में अच्छा नहीं लगा, लेकिन छवि खराब होने और लोगों में गलत संदेश जाने से ऐसा करने के लिए विवश होना पड़ा।