भाजपाई लोगों बीच दरार पैदा करके ही ज़िंदा हैं- पूर्व IPS की गिरफ्तारी पर बोले अखिलेश यादव, पूर्व IAS ने कहा- 2022 में मिलेगा जवाब

पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर की गिरफ्तारी पर सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और पूर्व आईएएस सूर्य प्रताप सिंह भड़के नजर आए।

Amitabh Thakur Arrest पूर्व IPS अमिताभ ठाकुर को गिरफ्तार कर ले जाते पुलिसकर्मी । Source- Twitter

उत्तर प्रदेश के पूर्व आईपीएस अधिकारी अमिताभ ठाकुर को उत्तर प्रदेश पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। अमिताभ ठाकुर के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट के बाहर आत्मदाह करने वाली महिला को आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज था। अमिताभ ठाकुर की गिरफ्तारी से जुड़ा वीडियो भी सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है, जिसमें पुलिस उन्हें घर से निकालकर गाड़ी में बैठाती हुई नजर आ रही है। अमिताभ ठाकुर की इस गिरफ्तारी को लेकर सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव भड़के हुए नजर आए। उन्होंने ट्वीट कर भाजपा पर गुस्सा जाहिर किया।

अखिलेश यादव ने पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर का वीडियो शेयर करते हुए लिखा, “भूतपूर्व पुलिस के विरुद्ध भाजपा सरकार की पुलिस का अभूतपूर्व कार्य। भाजपाई राजनीति लोगों के बीच दरार पैदा करके ही जिंदा है। अब भाजपा सरकार के दबाव के कारण पुलिस ही पुलिस के खिलाफ काम करने पर मजबूर है। एक सेवानिवृत्त आईपीएस के साथ ऐसा व्यवहार अक्षम्य है।”

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के अलावा पूर्व आईएएस सूर्य प्रताप सिंह ने भी अमिताभ ठाकुर की गिरफ्तारी पर आपत्ति जताई। उन्होंने ट्वीट कर लिखा, “पहले एक आईपीएस अमिताभ ठाकुर को जबरन रिटायर किया जाता है, फिर उसे इस तरह से बेइज्जत कर गिरफ्तार किया जाता है। यह न केवल नितांत अमानवीय व अलोकतांत्रिक है, बल्कि इस सरकार का यह रवैया तानाशाहीपूर्ण भी है।”

पूर्व आईएएस सूर्य प्रताप सिंह ने भाजपा को चुनौती देते हुए आगे लिखा, “जनता सब देख रही है, 2022 के चुनाव में जरूर जवाब देगी।” अखिलेश यादव और सूर्य प्रताप सिंह के अलावा कांग्रेस नेता श्रीनिवास बीवी ने भी अमिताभ ठाकुर की गिरफ्तारी पर ट्वीट किया और सीएम योगी आदित्यनाथ को भी आड़े हाथों लिया।

कांग्रेस नेता श्रीनिवास बीवी ने ट्वीट में लिखा, “ये व्यक्ति कोई गुंडा या आतंकवादी नहीं है, बल्कि उत्तर प्रदेश के पूर्व आईपीएस अधिकारी अमिताभ ठाकुर हैं। हाल ही में सीएम अजय सिंह बिष्ट के खिलाफ गोरखपुर से चुनाव लड़ने का ऐलान किया था। अब मुकदमों का दौर शुरू हो चुका है।”

बताया जा रहा है कि बलात्कार पीड़िता ने आत्महत्या से पहले जिन अधिकारियों पर आरोप लगाए थे, उनमें अमिताभ ठाकुर का नाम भी शामिल था।