भाजपा प्रवक्ता ने दी नेस्तनाबूत करने की धमकी, बोले- भारत की जनता कपड़े फाड़ देगी, बड़े भाई बोल हंसने लगे पैनलिस्ट

जवाब देते हुए पैनलिस्ट ने गौरव भाटिया से हंसते हुए कहा, ‘बड़े भाई इतना गुस्सा होने की क्या जरूरत है।’ पैनलिस्ट ने कहा कि क्यों मोदी सरकार तालिबान से बातचीत करने जा रही है।

TV debate, population control bill, uttar oradesh, Aaj tak, gaurav bhatia, samajwadi party, jansatta भारतीय जनता पार्टी (BJP) नेता गौरव भाटिया। (express file)

न्यूज 18 इंडिया पर डिबेट के दौरान बीजेपी प्रवक्ता गौरव भाटिया पैनलिस्ट से कहने लगे कि तुम भारतीय हो और दलाली करते हो पाकिस्तान के रुपए की। भाटिया कहने लगे कि तालिबान के अगर समर्थक बनोगे तो भारत की जनता नेस्तनाबूत कर देगी। प्रवक्ता कहने लगे कि तालिबान का समर्थन करने वाले के भारत की जनता कपड़े फाड़ देगी। जवाब देते हुए पैनलिस्ट ने गौरव भाटिया से हंसते हुए कहा, ‘बड़े भाई इतना गुस्सा होने की क्या जरूरत है।’ पैनलिस्ट ने कहा कि क्यों मोदी सरकार तालिबान से बातचीत करने जा रही है।

बता दें कि केंद्र सरकार ने गुरुवार को विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं को अफगानिस्तान की ताजा स्थिति की जानकारी दी और कहा कि वहां से भारतीय कर्मियों को बाहर निकालना उसकी सर्वोच्च प्राथमिकता है जहां स्थिति ‘गंभीर’ है। पिछले सप्ताह तालिबान द्वारा अफगानिस्तान पर कब्जा करने की पृष्ठभूमि में, विदेश मंत्री एस जयशंकर ने राजनीतिक दलों के नेताओं को उस देश के ताजा हालात के बारे में जानकारी दी ।

इस बैठक में जयशंकर के अलावा राज्यसभा के नेता और केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल तथा संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी भी मौजूद थे। बैठक में हिस्सा लेने वाले कुछ लोगों के अनुसार, विदेश मंत्री ने कहा कि भारत, अफगानिस्तान से यथासंभव अधिक लोगों को बाहर निकालने का प्रयास कर रहा है । उन्होंने जोर देकर कहा कि भारतीय कर्मियों को निकालना ‘सर्वोच्च प्राथमिकता’ है।’’

सरकार ने युद्ध प्रभावित अफगानिस्तान की स्थिति को ‘गंभीर’ बताया और कहा कि तालिबान ने दोहा समझौते में किये गए वादे को तोड़ा है। उल्लेखनीय है कि तालिबान नेताओं और अमेरिका के बीच फरवरी 2020 में हुए दोहा समझौते में धार्मिक स्वतंत्रता और लोकतंत्र को रेखांकित किया गया था। इसमें काबुल में एक ऐसी सरकार की बात कही गई थी जिसमें अफगानिस्तान के सभी वर्गों का प्रतिनिधित्व हो।

इस महत्वपूर्ण बैठक में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के नेता शरद पवार, राज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे, लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी, द्रमुक नेता टी आर बालू, पूर्व प्रधानमंत्री एच डी देवगौड़ा, अपना दल की नेता अनुप्रिया पटेल सहित कुछ अन्य नेताओं ने हिस्सा लिया।