भारत में टर्म लाइफ इंश्योरेंस कैसे खरीद सकते हैं एनआरआई, किस तर‍ह के मिलते हैं बेनिफ‍िट

जब एनआरआई भारत आते हैं, तो वे आसानी से टर्म इंश्योरेंस खरीद सकते हैं। ऐसे सिनेरियो में जहां एक एनआरआई साल में कम से कम एक या दो बार भारत का दौरा करता है, उनके ऐसा करने की सबसे अधिक संभावना होती है। हालांकि, जो भारत की यात्रा के दौरान पॉलिसी खरीदने में असमर्थ हैं, वे इसे ऑनलाइन कर सकते हैं।

Term Insurance भारतीय मूल के साथ-साथ एनआरआई भी टर्म इंश्‍योरेंस प्‍लान खरीद सकते हैं और सभी बेनिफि‍ट्स ले सकते हैं। (Photo By Indian Express Archive)

टर्म इंश्योरेंस वह इंश्‍योरें हैं जो पॉलिसी टेन्‍योर के दौरान पॉलिसी होल्‍डर की मौत पर पर भुगतान करता है। यदि पॉलिसी होल्‍डर टेन्‍योर तक जीवित रहता है, तो किसी तरह का मेच्‍योरिटी अमाउंट नहीं मिलता है। दूसरी इंश्‍योरेंस पॉलिसी की तुलना में टर्म इंश्योरेंस का प्रीमियम भी काफी कम होता है। कोई भी व्यक्ति जिसका परिवार आर्थिक रूप से उन पर निर्भर है, टर्म इंश्योरेंस खरीदने से लाभ उठा सकता है।

देश से बाहर रहकर भी ले सकते हैं टर्म इंश्‍योरेंस
इस पॉलिसी का फायदा भारतीय मूल का होने के साथ-साथ एनआरआई भी उठा सकते हैं। जानकारों की मानें तो विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम ने एनआरआई और पीआईओ के लिए भारत में टर्म इंश्योरेंस लेना संभव बना दिया है। खास बात तो ये है कि एनआरआई को भारत में रहने की भी जरुरत नहीं है। जानकार करते हैं जब एनआरआई भारत में हों तो टर्म इंश्‍योरेंस खरीदना हमेशा बेहतर होता है।

ऐसे कर सकते हैं प्रीमियम का भुगतान
प्रीमियम का भुगतान करते समय पॉलिसी होल्‍डर्स को बातों का ध्यान में रखना चाहिए। मान लीजिए कि पॉलिसी अनिवासी भारतीयों को विदेशी मुद्रा में जारी की जाती है, तो उन्हें भारत में धारित गैर-आवासीय बाहरी (एनआरई), या विदेशी मुद्रा अनिवासी (एफसीएनआर) अकाउंट से प्रीमियम का भुगतान करना होगा। लेकिन अगर टर्म इंश्योरेंस पॉलिसी भारतीय मुद्रा में जारी की जाती है, तो प्रीमियम का भुगतान अनिवासी साधारण (एनआरओ) अकाउंट के माध्यम से किया जा सकता है।

मिलता है टैक्‍स बेनि‍फ‍िट
यदि पॉलिसी अमाउंट एनुअल प्रीमियम का कम से कम 10 गुना है तो लाइफ इंश्‍योरेंस प्रीमियम का भुगतान धारा 80 सी के तहत टैक्‍स बेनिफ‍िट का फायदा उठा सकते हैं। सामान्य तौर पर, टर्म इंश्योरेंस पॉलिसी इस आवश्यकता को पूरा करती हैं। इसलिए, भारत में टैक्‍स देने वाला एनआरआई भी इंश्‍योरेंस प्र‍ीमियम पर कर कटौती से लाभ उठा सकता है और अपने रिटर्न में इसका दावा कर सकता है। इसके अलावा, प्रीमियम एक देश से दूसरे देश में भिन्न हो सकते हैं। यदि एनआरआई ऐसे देश में रह रहा है जहां लाइफ रिस्‍क ज्‍यादा है, या देश में सिविल इश्‍यू अध‍िक हैं और अनस्‍टेबल गवर्नमेंट है, तो उन देशों का प्रीमियम अन्य कम जोखिम वाले देशों की तुलना में अधिक होगा।

ऐसे टर्म इंश्‍योरेंस ले सकते हैं एनआरआई
जब एनआरआई भारत आते हैं, तो वे आसानी से टर्म इंश्योरेंस खरीद सकते हैं। ऐसे सिनेरियो में जहां एक एनआरआई साल में कम से कम एक या दो बार भारत का दौरा करता है, उनके ऐसा करने की सबसे अधिक संभावना होती है। हालांकि, जो भारत की यात्रा के दौरान पॉलिसी खरीदने में असमर्थ हैं, वे इसे ऑनलाइन कर सकते हैं। केवल अपनी पसंद के टर्म इंश्योरेंस के लिए एक ऑनलाइन आवेदन भरने की आवश्यकता है। एनआरआई के लिए टर्म इंश्योरेंस खरीदने के लिए आवश्यक डॉक्‍युमेंट्स आवेदन पत्र, पासपोर्ट की एक कॉपी और हेल्‍थ रिपोर्ट, आयु प्रमाण पत्र और आय प्रमाण पत्र आद‍ि शामिल हैं। आवेदन फॉर्म भरने और प्रीमियम का ऑनलाइन भुगतान करने के बाद, बीमाकर्ता आवश्यक दस्तावेज के अलावा, आपके चिकित्सा इतिहास के आधार पर एक टेलीमेडिकल या शारीरिक परीक्षा का अनुरोध कर सकता है। बीमाकर्ता आपके आवेदन को प्रोसेसिंग करते समय उस देश पर विचार कर सकता है जिसमें आप रहते हैं। यदि सब कुछ क्रम में है, तो आवेदन स्वीकार कर लिया जाता है, और खरीदार को एक पॉलिसी जारी की जाती है।

डेथ बेनिफ‍िट
इसका प्रोसेस काफी आसान है, क्‍योंकि नॉमिनेटिड व्यक्ति को पॉलिसी की शर्तों के अनुसार आवश्यक दस्तावेज जमा करने की आवश्यकता होती है। एक बार भारत में क्‍लेम डॉक्‍युमेंट दायर किए जाने के बाद, बीमाकर्ता मृत्यु के देश की परवाह किए बिना क्‍लेम प्रोसेस करता है। जानकारों की मानें तो अगर पॉलिसीधारक भारत में पॉलिसी खरीदता है, तो दावा रुपए में मिलेगा होगा और अगर किसी विदेशी देश से खरीदा जाता है, तो क्‍लेम का भुगतान विदेशी मुद्रा में किया जाएगा। इसके अलावा नॉमिनेटिड व्यक्ति को भुगतान किया गया डेथ बेनिफ‍िट टैक्‍स फ्री रहता है।

क्‍यों पसंद करते हैं
यदि आप एक एनआरआई हैं जो भारत में प्रोटेक्‍शन/टर्म इंश्‍योरेंस खरीदना चाहते हैं, तो आपके पास कई तरह के ऑप्‍शंस मौजूद हैं। जानकारों की मानें तो अन्य देशों की तुलना में, भारत की टर्म इंश्योरेंस पॉलिसी की कीमतें बहुत कम हैं। भारत से बाहर रहने वालों के लिए भारत में टर्म इंश्योरेंस प्राप्त करने का एक अन्य प्रमुख कारण यह है कि उनका परिवार/नॉमिनेटिड व्यक्ति भारत में रह सकते हैं या भविष्य में भारत में ट्रांसफर हो सकते हैं। अगर उनके साथ कुछ भी दुर्भाग्यपूर्ण होता, तो भारत में उनके परिवार को बहुत मानसिक और आर्थिक तनाव में डाल दिया जाता। जब एक एनआरआई भारत में एक टर्म लाइफ इंश्योरेंस खरीदता है, तो उन्हें विश्वास और भरोसा होता है कि बीमाकर्ता उनके देश में उपलब्ध होगा और उनका परिवार वहां क्‍लेम प्रोसेस को संभालने में सक्षम होगा।