भारत में सबसे ज्यादा ऑक्सीजन का उत्पादन कर रही RIL, मुकेश अंबानी खुद करते हैं निगरानी

रिलायंस की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि कोरोना महामारी के दौरान कंपनी करीब 1000 मीट्रिक टन ऑक्सीजन का उत्पादन कर रही है और देश के कई राज्यों को मुफ्त में उपलब्ध करा रही है।

reliance, corona, oxygen

कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के मामलों की वजह से देश में मेडिकल ऑक्सीजन की किल्लत हो गई है। ऑक्सीजन की किल्लत से निपटने के लिए भारत को विदेशों से भी काफी मदद मिल रही है। साथ ही देश के बड़े औद्योगिक घरानें भी इस महामारी के दौरान अस्पतालों को ऑक्सीजन उपलब्ध करवा रहे हैं। देश के सबसे अमीर व्यक्ति मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस भी कोरोना मरीजों के लिए ऑक्सीजन मुहैया करा रही है। अस्पतालों को भेजे जाने वाले ऑक्सीजन की निगरानी खुद मुकेश अंबानी कर रहे हैं। 

कोरोना महामारी के दौरान रिलायंस करीब 1000 मीट्रिक टन ऑक्सीजन का उत्पादन कर रही है और देश के कई राज्यों को मुफ्त में उपलब्ध करा रही है। रिलायंस के ओर से जारी बयान में कहा गया है कि जामनगर और दूसरी इकाइयों में करीब 1000 MT मेडिकल ग्रेड लिक्विड ऑक्सीजन का उत्पादन किया जा रहा है जो भारत के कुल मेडिकल ऑक्सीजन उत्पादन का 11 फीसदी है। जिससे करीब 1 लाख मरीजों को ऑक्सीजन उपलब्ध करवाया जा सकेगा।

कंपनी की ओर से जारी बयान में यह भी कहा गया है कि रिलायंस ने सऊदी अरब, जर्मनी, बेल्जियम, नीदरलैंड और थाईलैंड जैसे देशों से 24 ऑक्सीजन कंटेनर मंगवाए हैं जिससे देशभर में मेडिकल ऑक्सीजन की सप्लाई में मदद मिलेगी। एयरफ़ोर्स के जरिए ही ये कंटेनर्स विदेशों से भारत मंगवाए गए हैं। साथ ही कंपनी ने यह भी दावा किया है कि पिछले साल मार्च महीने से कंपनी ने देशभर में 5500 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की आपूर्ति देशभर में की है।

 

रिलायंस के द्वारा की जा रही मेडिकल सप्लाई पर चेयरमैन मुकेश अंबानी ने कहा है कि कोरोना की दूसरी लहर में देशवासियों के जान को बचाने से ज्यादा कुछ भी महत्वपूर्ण नहीं है। साथ ही उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के खिलाफ लड़ने के लिए भारत में मेडिकल ग्रेड ऑक्सीजन के उत्पादन और परिवहन क्षमताओं को बढ़ाने की तत्काल आवश्यकता है। इसके अलावा नीता अंबानी ने भी कहा है कि हमारी जामनगर रिफाइनरी और प्लांट्स को रातोंरात बदल दिया गया है ताकि भारत में मेडिकल ग्रेड लिक्विड ऑक्सीजन का उत्पादन किया जा सके।

शनिवार को राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में ऑक्सीजन की किल्लत की वजह से हो रही मौतों को लेकर दिल्ली हाईकोर्ट के जज केंद्र सरकार पर जमकर बरसे। बत्रा हॉस्पिटल में ऑक्सीजन की कमी की वजह से हुई मौतों को लेकर दिल्ली हाईकोर्ट में जस्टिस विपिन सांघी और जस्टिस रेखा पल्ली की पीठ ने केंद्र सरकार के वकील को कहा कि अब पानी हमारे सिर से ऊपर चला गया है।इस दौरान दिल्ली हाईकोर्ट ने केंद्र सरकार को निर्देश दिया कि दिल्ली को जो 490 मीट्रिक टन आवंटित किया गया है, उसे आज किसी भी हाल में पूरा किया जाए। न्यायाधीश ने यह भी कह दिया कि यदि निर्देश लागू नहीं किया जाता है, तो संबंधित विभाग को सोमवार को अदालत में मौजूद रहना चाहिए।