मन की बात से पहले राहुल गांधी का ट्वीट, कहा- हिम्मत है तो करो किसान की बात

राहुल ने तंज कसा कि मोदी अपने मन की बात तो लोगों को सुनाते रहते हैं, लेकिन कभी खुद लोगों के मन की बात नहीं सुनते।

Rahul Gandhi

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने पीएम नरेंद्र मोदी के मन की बात प्रोग्राम को लेकर कटाक्ष किया है। राहुल ने अपने ट्वीट में मोदी को चैलेंज देते हुए कहा कि हिम्मत है तो करो किसान की बात। जॉब की बात। राहुल ने तंज कसा कि मोदी अपने मन की बात तो लोगों को सुनाते रहते हैं, लेकिन कभी खुद लोगों के मन की बात नहीं सुनते।

राहुल ने मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि किसान तीन माह से ज्यादा समय से दिल्ली की सीमा पर बैठा है लेकिन पीएम के पास इतना भी समय नहीं कि उनसे बात कर सकें। उनका कटाक्ष था कि कुछ किमी की दूरी तय करने से भी वह डरते हैं। ध्यान रहे कि सिंघू और टिकरी बार्डर पर जहां किसान बैठे हैं, वह इलाके पीएम के आवासे से कुछ किमी की दूरी पर है। किसानों के साथ सरकार की 11 दौर की बात हो चुकी है पर बातचीत अभी तक बेनतीजा रही है।

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने रोजगार के मसले पर भी मोदी को घेरने की कोशिश की। उनका कहना था कि देश में लगातार बेरोजगारी बढती जा रही है, लेकिन सरकार इस मसले पर गंभीर नहीं हो रही है। उनका मोदी पर तंज था कि वह 2014 से पहले कहते थे कि बीजेपी सरकार हर साल दो करोड़ नए रोजगार सृजित करेगी। उनका सवाल था कि क्या सरकार बताएगी कि अब तक कितने रोजगार सृजित हुए। कितने लोगों को नौकरी देने में मोदी कामयाब रहे।

गौरतलब है कि नरेंद्र मोदी रविवार सुबह 11 बजे अपने मासिक रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात’के जरिए देशवासियों को संबोधित करेंगे। यह उनके रेडियो कार्यक्रम का 74वां संस्करण है। पीएम मोदी ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट्स पर लोगों से इस महीने की शुरुआत में मन की बात के लिए अलग-अलग विषयों पर विचार और सुझाव मांगे थे। इसमें मोदी कई मुद्दों पर अपनी राय रख सकते हैं।

माना जा रहा है कि पीएम कोरोना वायरस संक्रमण पर लोगों से फिर संयम बरतने और वैक्सीनेशन पर बात कर सकते हैं, क्योंकि देशभर के कई हिस्सों में कोरोना संक्रमण के मामले फिर से बढ़ने लगे है। वहीं सोमवार से देशभर में कोविड टीकाकरण का दूसरा चरण शुरू होने जा रहा है। मोदी छात्रों से आगामी परीक्षा के बारे में भी बात कर सकते हैं। इस मसले पर वह पहले भी अपनी राय रख चुके हैं।