ममता बनर्जी के घर के बाहर प्रदर्शन, भाजपा सांसद पर दर्ज हुआ केस, बोले- सीएम के आगे राज्यपाल भी मजबूर

ममता बनर्जी के घर के बाहर शव रखकर प्रदशर्न किया गया, जिसके बाद कुछ बवाल भी हुआ था। जिसे लेकर शुक्रवार को भाजपा नेता अर्जुन सिंह के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया। मुकदमा कालीघाट पुलिस स्‍टेशन में दर्ज कराया गया है। भाजपा अध्यक्ष सुकांत मजूमदार, सासंद अर्जुन सिंह, ज्योतिर्मय सिंह महतो और प्रियंका टिबरेवाल समेत कई नेताओं के खिलाफ केस दर्ज किया गया है।

arjun singh file photo ममता बनर्जी के घर के बाहर प्रदर्शन, भाजपा सांसद पर दर्ज हुआ केस, बोले-सीएम के आगे राज्यपाल भी मजबूर (फाइल फोटो )

ममता बनर्जी के घर के बाहर शव रखकर प्रदशर्न किया गया, जिसके बाद बवाल भी हुआ था। जिसे लेकर शुक्रवार को भाजपा नेता के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया। मुकदमा कालीघाट पुलिस स्‍टेशन में दर्ज कराया गया है। भाजपा अध्यक्ष सुकांत मजूमदार, सासंद अर्जुन सिंह, ज्योतिर्मय सिंह महतो और प्रियंका टिबरेवाल समेत कई नेताओं के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। सुकांत मजूमदार के कार्यालय की ओर से बताया गया है कि कालीघाट पुलिस ने स्वत संज्ञान लेकर ये केस दर्ज किया है। इस मामले पर बात करते हुए मीडिया से बात करते हुए भाजपा सांसद अर्जुन सिंह ने कहा कि इस अत्‍याचारी सरकार के इस कदम से कोई फर्क नहीं पड़ता है।

पश्चिम बंगाल में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेताओं ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के आवास के बाहर प्रदर्शन किया। गुरुवार को सीएम के साउथ कोलकाता के कालीघाट के पास स्थित आवास के बाहर बीजेपी के नेता और कार्यकर्ता अपने एक मृत नेता का शव लेकर पहुंचे थे। प्रदर्शन करने वालों में बंगाल भाजपा के अध्यक्ष सुकांता मजूमदार, भवानीपुर उप-चुनाव में भाजपा की प्रत्याशी प्रियंका टिबरेवाल समेत कई बड़े नेता मौजूद थे। पुलिस के सीएम के घर की तरफ जाने से रोकने पर भाजप नेताओं ने गोपाल नगर के पास जाम भी लगाया।

यह था मामला
पश्चिम बंगाल भाजपा के मुख्य प्रवक्ता सामिक भट्टाचार्य ने इस दौरान कहा कि उनकी पार्टी के नेता मानस साहा ने मार्च-अप्रैल में हुए चुनाव में माराघाट वेस्ट विधानसभा सीट से चुनाव लड़ा था लेकिन वो हार गये थे। 2 मई को चुनाव के नतीजे घोषित होने के बाद टीएमसी के कार्यकर्ताओं ने उन्हें प्रताड़ित किया था। तब से वो लगातार बीमार चल रहे थे और बुधवार को अस्पताल में उनकी मौत हो गई। केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने भी मानस साहा की मौत पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि मौत की जांच होनी चाहिए। मैने पुलिस से कहा था पर पुलिस ने प्रताड़ना की शिकायत दर्ज नहीं की। पुलिस को मामले में जांच करनी चाहिए।

यह थे पदर्शन में शामिल
भाजपा नेताओं का आरोप था कि मई के महीने में तृणमूल कांग्रेस के नेताओं ने पीटा था और इस दौरान उन्हें गहरी चोट लगी थी, जिसके बाद अब उनकी मौत हो गई है। प्रदर्शनकारी भाजपा नेता, टीएमसी कार्यकर्ताओं पर हत्या का आरोप लगा रहे थे। बंगाल भाजपा के नए अध्यक्ष सुकांता मजूमदार के अलावा इस प्रदर्शन में कई पार्टी नेता मौजूद थे। इसके अलावा भवानीपुर उप-चुनाव में भाजपा की प्रत्याशी प्रियंका टिबरेवाल भी इस प्रदर्शन में शामिल थीं। बताया जा रहा है कि जब पुलिस ने इन नेताओं को सीएम के घर की तरफ जाने से रोका तब उन्होंने गोपाल नगर के पास सड़क जाम कर दिया।

यह भी पढ़ें: जानवरों की होगी गिनती लेकिन SC – ST की जनगणना नहीं करेगी सरकार- बोले लालू प्रसाद यादव, पूछा – BJP और RSS को अति पिछड़ों से नफ़रत क्यों?

सांसद ने कहा- झूठ बोलती हैं ममता बनर्जी
सांसद अर्जुन सिंह ने कहा कि अत्‍याचारी सरकार का शासन चल रहा है। इसमें कानून का कोई शासन नहीं है। अब लडाई में उतरें है तो इस मुकदमे से कोई फर्क नहीं पड़ता। कहा कि हम सीएम से मिलने के लिए जाने वाले थे, लेकिन उससे पहले ही पुलिस ने अभद्रता की। उन्‍होंने कहा कि राज्‍यपाल भी ममता बनर्जी के आगे मजबूर हैं, वे भी दबाव में आकर काम कर रहे हैं। उन्‍होंने कहा कि ममता बनर्जी अपने काम को लेकर झूठ बोल रही हैं, उन्‍होंने सांसद ने भत्‍ता देने को लेकर भी सीएम पर आरोप लगाया है।

सांसद के घर के बाहर फेंका गया था बम
बता दें कि 14 सितंबर को बीजेपी सांसद ने घटना का सीसीटीवी फुटेज शेयर करते हुए एक ट्वीट में कहा था कि उनके घर के बाहर आठ और चौदह सिंतबर को उनके घर के बाहर बम फेंका गया था। जिसके बाद उन्‍होंने आरोप लगाते हुए कहा था कि अपराधियों को कोई डर नहीं है क्योंकि उनको टीएमसी और पश्चिम बंगाल पुलिस का संरक्षण प्राप्त है।