माखनलाल बिंदरू की बेटी की ललकार को सोशल मीडिया ने किया सलाम, आतंकियों ने पिता की कर दी थी हत्या

श्रद्धा बिंदरू ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि मेरे कश्मीरी पंडित पिता कभी नहीं मरेंगे क्योंकि आतंकी केवल शरीर को मार सकते हैं लेकिन आत्मा और जज्बे को नहीं।

Shraddha Bindroo बिंदरू की हत्या लाल चौक स्थित उनके परिसर में गोली मारकर की गई। इस घटना के बाद बिंदरू की बेटी श्रद्धा बिंदरू का एक वीडियो सामने आया है। (फोटो सोर्स- सोशल मीडिया)

जम्मू-कश्मीर में आतंकी अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं। मंगलवार को आतंकियों ने यहां एक घंटे के भीतर 3 अलग-अलग जगहों पर हमला किया, जिसमें 3 लोगों की मौत हो गई।

इस आतंकी हमले में कश्मीरी पंडित और मशहूर फार्मेसी बिंदरू मेडिकेट के मालिक माखन लाल बिंदरू की भी मौत हुई है।

बिंदरू की हत्या लाल चौक स्थित उनके परिसर में गोली मारकर की गई। इस घटना के बाद बिंदरू की बेटी श्रद्धा बिंदरू का एक वीडियो सामने आया है, जिसमें उन्होंने आतंकियों को ललकारते हुए चुनौती दी है।

श्रद्धा बिंदरू ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि मेरे कश्मीरी पंडित पिता कभी नहीं मरेंगे क्योंकि आतंकी केवल शरीर को मार सकते हैं लेकिन आत्मा और जज्बे को नहीं। उन्होंने आतंकियों को चुनौती देते हुए कहा कि अगर तुम्हारे अंदर हिम्मत है तो मेरे सामने आओ और डिबेट करो। गोलियां और पत्थर वही लोग चलाते हैं, जिनके पास कहने के लिए कुछ नहीं है।

उन्होंने कहा कि मैं अपने पिता की बेटी हूं, हिम्मत है तो मुझसे बात करके दिखाओ। मैं एसोसिएट प्रोफेसर हूं मेरा भाई मधुमेह रोग विशेषज्ञ है, मेरी मां दुकान में बैठती है और मेरे पिता ने साइकिल से शुरुआत की थी। हमें हमारे पिता ने बनाया है। वह एक योद्धा थे, वह कभी नहीं मरेंगे।

श्रद्धा बिंदरू के इस वीडियो पर सोशल मीडिया पर तेजी से प्रतिक्रिया आ रही है। लोग उनकी हिम्मत को सैल्यूट कर रहे हैं।

ट्विटर यूजर @shammybaweja ने उनका वीडियो शेयर करते हुए लिखा है कि हाथ उठाकर कश्मीर की इस बहादुर बेटी को सलाम। ये एमएल बिंदू की बेटी हैं, जिनकी कल गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।

ट्विटर यूजर @Deshbhakt_ifty ने लिखा कि ये दुख मुस्लिम और दलित हर रोज सहते हैं, आपकी बहादुरी को सलाम है। न्याय जरूर मिलेगा आपकी आवाज इन बहरों के कानों तक भी पहुंचेगी।

ट्विटर यूजर @sadhu_sadh ने लिखा कि कानून-व्यवस्था के लिए जिम्मेदार लोग कहां हैं, बात करने की जिम्मेदारी किसकी है?

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक माखन लाल बिंदरू इलाके में दवा की दुकान चलाते थे। वह उन गिने चुने लोगों में से एक थे, जिन्होंने आतंकियों की धमकी के बाद भी कश्मीर नहीं छोड़ा।