मायावती पर भीम आर्मी के चंद्रशेखर का वार, बोले- हाथी से गणेश बनाने में हत्या होती है

त्रिशंकु विधानसभा बनने की स्थिति में भाजपा को समर्थन देने के सवाल पर सतीश मिश्र ने दावा किया कि किसी भी कीमत पर बसपा भाजपा को समर्थन नहीं देगी।

bhim army, UP भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर। (फाइल फोटो)।

भीम आर्मी नेता चंद्रशेखर ने बसपा सुप्रीमो मायावती पर हमला बोला है। चंद्रशेखर का कहना है कि कांशीराम की राजनीतिक विरासत मायावती के पास है और सैद्धांतिक विरासत उनके पास है। चंद्रशेखर से जब एंकर ने कहा कि आपको क्या लगता है कि मायावती के पास सिद्धांत नहीं हैं। इस पर चंद्रशेखर ने जवाब दिया कि सिद्धांत में हाथी से गणेश बनाने में हाथी की हत्या होती है। उन्होंने एक निजी टीवी समाचार चैनल से बातचीत में यह बात कही।

वहीं, बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के राष्‍ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्र ने मंगलवार को कहा कि उनकी पार्टी के लिए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) दुश्मन नंबर एक है क्योंकि इसने उत्तर प्रदेश को तबाह कर रखा है। मंगलवार को लखनऊ में एक समाचार चैनल के कार्यक्रम में सवालों के जवाब में बसपा महासचिव ने कहा, ”हमारे लिए भाजपा दुश्मन नंबर एक है क्योंकि उन्होंने पूरे (उत्तर) प्रदेश को तबाह कर रखा है, महिला दुखी, किसान दुखी, नौजवान दुखी, सब दुखी हैं। सरकार कहती है कि हम महिलाओं की सुरक्षा कर रहे हैं, लेकिन हर दो घंटे में एक महिला के साथ बलात्‍कार हो रहा है।”

उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा कि हाथी सबका साथी, उत्तर प्रदेश के जितने मतदाता हैं हाथी उनका साथी है। बता दें कि बसपा का चुनाव निशान हाथी है। गौरतलब है कि जौनपुर में सोमवार को उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने करोड़ों रुपये की परियोजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण करने के बाद मुंगराबादशाहपुर में आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए कहा था, ”क्या सपा सरकार में आपको राशन मिलता था, सपा सरकार से पहले बहन जी (मायावती) की सरकार में तो हाथी का पेट इतना बड़ा था कि पता ही नहीं लगता था कि जनता का राशन कहां जा रहा है।”

मिश्र ने भविष्य में समाजवादी पार्टी (सपा) के साथ किसी गठबंधन से इनकार किया। उन्होंने कहा, ‘‘ आजकल उत्तर प्रदेश में कोई कांग्रेस का नाम नहीं ले रहा है, उसके पास न घर रह गया, न जमीन रह गई।” अगले वर्ष की शुरुआत में होने वाले चुनाव में त्रिशंकु विधानसभा बनने की स्थिति में भाजपा को समर्थन देने के सवाल पर उन्होंने दावा किया कि किसी भी कीमत पर बसपा भाजपा को समर्थन नहीं देगी।