‘मिस्टर इंडिया’ में अमरीश पुरी नहीं थे डायरेक्टर की पहली पसंद, इस एक्टर को साइन करने के बाद कर दिया था अचानक बाहर

डायरेक्टर शेखर कपूर के लिए अमरीश पुरी कभी भी फिल्म ‘मिस्टर इंडिया’ के लिए पहली पसंद नहीं थे। वह अनुपम खेर को फिल्म में कास्टर करना चाहते थे।

Amrish Puri, Entertainment News, Entertainment अमरीश पुरी (फोटो क्रेडिट- Sujata Films/Indian Express)

अनिल कपूर और श्रीदेवी स्टारर फिल्म ‘मिस्टर इंडिया’ साल 1987 में रिलीज हुई थी। ‘मिस्टर इंडिया’ अनिल कपूर के करियर में मील का पत्थर साबित हुई थी। इस फिल्म को शेखर कपूर ने डायरेक्ट किया था। फिल्म का कैरेक्टर ‘मोगैम्बो’ भी काफी लोकप्रिय हुआ था। इस किरदार को अमरीश पुरी ने निभाया था, लेकिन इस रोल के लिए पहली पसंद अमरीश पुरी नहीं बल्कि अनुपम खेर थे।

80 के दशक में अनुपम खेर ने न्यूज़ एजेंसी IANS के साथ इंटरव्यू में इसका खुलासा किया था। अमरीश पुरी की बर्थ एनिवर्सिरी के मौके पर अनुपम खेर ने बताया था कि अमरीश पुरी से पहले मिस्टर इंडिया में ‘मोगैम्बो’ का रोल मुझे ऑफर हुआ था। हालांकि करीब 1 या 2 महीने बाद फिल्म मेकर्स ने मुझे रिप्लेस कर दिया था। आमतौर पर जब किसी एक्टर को फिल्म से बाहर किया जाता है तो उसे बहुत बुरा लगता है। लेकिन जब मैंने मिस्टर इंडिया और उसमें अमरीश जी की परफॉर्मेंस देखी तो मुझे इस बात का बिल्कुल भी अफसोस नहीं हुआ।

रिलीज के बाद मिस्टर इंडिया ने कमाई के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए। फिल्म क्रिटिकली और कमर्शियली सुपरहिट साबित हुई थी। 38 मिलियन के बजट वाली इस फिल्म ने उस समय 100 मिलियन रुपए से ज्यादा का बॉक्स ऑफिस कलेक्शन किया था। ये उस साल की दूसरी सबसे ज्यादा कमाई करने वाली फिल्म बन गई थी। मिस्टर इंडिया की कामयाबी को देखते हुए इसे अन्य भाषाओं में भी बनाया गया था। तमिल और कन्नड़ में बनी अन्य फिल्में भी सुपरहिट हुई थीं।

मिस्टर इंडिया को सलीम-जावेद ने लिखा था और इसे सुरिंदर और बॉनी कपूर ने प्रोड्यूस किया था। अगर शेखर कपूर की फिल्मों पर नज़र दौड़ाएं तो समझ आएगा कि ये उनकी सबसे सुपरहिट फिल्मों में एक थी। इसके अलावा शेखर कपूर ने मासूम, बैंडिट क्वीन, एलिज़ाबेथ, आई लव यू जैसी फिल्में भी बनाई थीं। मिस्टर इंडिया में अनिल कपूर की एक्टिंग को भी खूब पसंद किया गया था। फिल्म की पूरी कहानी अनिल कपूर के किरदार अरुण के इर्द-गिर्द ही घूमती रहती है।