मुंबई के पूर्व पुलिस अफसर का दावा- PM ने गोवा के राज्यपाल के लिए नामित किया पूर्व CEC का नाम; अरोड़ा ने कहा- ये गलत

गोवा का राज्यपाल बनाए जाने की ख़बरें सामने आने के बाद सुनील अरोड़ा को इन बातों का खंडन करना पड़ा।

sunil arora, bjp, goa

 पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने इन खबरों का खंडन किया है कि उनको गोवा का राज्यपाल नामित किया गया है। उल्लेखनीय है कि सियासी हलकों में अरोड़ा को राज्यपाल बनाए जाने की बातें कुछ दिनों से चल रही थीं। लेकिन शुक्रवार की सुबह चंडीगढ़ के ट्रिब्यून में छपे एक लेख के बाद अरोड़ा को खंडन करने आना पड़ा। इस   लेख में लिखा गया था कि अरोड़ा को गोवा का राज्यपाल नामित किया गया है। लेख लिखा है रिटायर्ड आला पुलिस अफसर जूलियो रिबेरो ने। इस लेख की चर्चा प्रशासनिक हलकों में चल ही रही थी कि शाम होते-होते कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने एक तंज भरा ट्वीट दाग दिया।

इसी के बाद सुनील अरोड़ा को इन बातों का खंडन करना पड़ा। उन्होंने एक बयान जारी किया जिसमें लिखा है कि ट्रिब्यून में प्रकाशित जूलियो रिबेरो का लेख एक गलत सूचना पर आधारित है कि मुझे गोवा का गवर्नर नामित किया गया है। बयान में कहा गया है कि रिबेरो जी को अपने विचार व्यक्त करने का पूरा अधिकार है, लेकिन उन्हें बुनियादी सच्चाई तो जांच लेनी चाहिए थी।

ट्रिब्यून में छपे लेख की हेडिंग है चुनाव आयोग के दफ्तर का पतन। रिबेरो ने लिखा हैः मेरे पुरखों के घर गोवा में एक नया राज्यपाल बैठने जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अरोड़ा को मुख्य चुनाव आयुक्त के पद से हटने के तीन दिन बाद ही गोवा का राज्यपाल नामित कर दिया था। अब वे पुर्तगाली उपनिवेशकाल में बने महल पैलेसियो दा काबो में रहेंगे। राजभवन इसी इमारत में अवस्थित है।

इस बीच सुप्रसिद्ध वकील एवं कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने शाम के वक्त एक मजाहिया ट्वीट में भी अरोड़ा को राज्यपाल बनाए जाने का जिक्र कर दिया। इसमें लिखा हैः पीएम डज़ केयर..सीईसी अप्वाइंटेड गोवा गवर्नर…हू सेज़ पीएम डज़ नॉट केयर…क्वेश्चन इज़ वॉट एणड हूम ही केयर्स। मतलब प्रधानमंत्री जी बिलकुल चिंता करते हैं…मुख्य चुनाव आयुक्त को गोवा का राज्यपाल नामित किया है। कौन कहता है कि प्रधानमंत्री फिक्र नहीं करते। सवाल यह है कि वे किसकी फिक्र करते हैं और क्या फिक्र करते हैं।