मुंबई में बंद हो गया वैक्सिनेशन, मंत्री ने बताया, जुलाई-अगस्त में आ सकती है कोरोना की तीसरी लहर

गुरुवार को पत्रकारों से बातचीत के दौरान स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि घटती संख्या के मद्देनजर उम्मीद है कि मई तक कोरोना का ग्राफ फ्लैट हो जाएगा। लेकिन एक्सपर्ट की राय है कि कोरोना वाइरस जुलाई-अगस्त में एक बार फिर हमला कर सकता है।

Corona, Vaccine, Mumbai

अंदेशा है कि महाराष्ट्र में कोविड-19 की तीसरी लहर आ सकती है। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे के मुताबिक नई लहर जुलाई और अगस्त के बीच आ सकती है। उन्होंने अपनी आशंका के लिए महामारी विशेषज्ञों का हवाला दिया है। महाराष्ट्र में दैनिक संक्रमणों में कमी दिखाई देने लगी है। ऐसे में नई लहर का अंदेशा चिंता की बात है।

गुरुवार को पत्रकारों से बातचीत के दौरान स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि घटती संख्या के मद्देनजर उम्मीद है कि मई तक कोरोना का ग्राफ फ्लैट हो जाएगा। लेकिन एक्सपर्ट की राय है कि कोरोना वाइरस जुलाई-अगस्त में एक बार फिर हमला कर सकता है। सरकार का प्रयास है कि राज्य में इसके पहले ही हालात से निपटने के पुख्ता इंतजाम कर लिए जाएं।इस बीच मुंबई की मेयर किशोरी पेंडनेकर ने जनता को आगाह किया है कि वे वैक्सीनेशन सेंटरों पर भीड़ न लगाएं।

उन्होंने कहा कि ये सेंटर बने तो वैक्सीन के लिए हैं लेकिन बेकाबू भीड़ के चलते ये ठिकाने सुपरस्प्रेडर प्वाइंट भी बन सकते हैं। इसी खतरे के चलते अब सीधे बिना पंजीकरण के वॉक-इन वैक्सीनेशन सुविधा बंद करने का ऐलान किया है। अब मोबाइल पर पंजीकरण के बाद ही वैक्सीन लगवाई जा सकेगी। प्रशासन ने कहा है कि इस काम के लिए उसने एनजीओ से मदद के लिए कहा है।

उधर, मुंबई में वैक्सीनेशन का कार्यक्रम तीन दिन के लिए रोक दिया गया है। सरकार का कहना है कि वैक्सीनेशन केंद्रों पर डोज़ नहीं बचे हैं। मुंबई में वैक्सीनेशन के 136 केंद्र हैं। प्रशासन के मुताबिक गुरुवार शाम तक वहां वैक्सीन खत्म हो गई थी। खबरों के अनुसार मुंबई का सबसे बड़ा नेस्को वैक्सीनेशन सेंटर भी वैक्सीन खत्म हो जाने की वजह से बंद हो गया है।

एक अधिकारी ने कहा कि नया स्टॉक मिलते ही मीडिया और सोशल मीडिया के जरिया इसकी सूचना जनता तक पहुंचा दी जाएगी और एक दिन के अंदर टीकाकरण शुरू कर दिया जाएगा।