मेघालय के राज्यपाल ने लाठीचार्ज पर की CM खट्टर से माफी की मांग तो कांग्रेस नेता बोलीं- इनकी छुट्टी तय, लिखकर ले लो

मेघालय के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने किसानों पर हुए लाठीचार्ज को लेकर सीएम खट्टर से माफी की मांग की। उनकी बात पर अलका लांबा ने ट्वीट किया है।

cm khattar, satyapal malik सत्यपाल मलिक ने की CM खट्टर से माफी की मांग (फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस)

करनाल में बीते दिन किसानों पर पुलिस द्वारा लाठीचार्ज की गई, जिसके कारण भाजपा की सरकार एक बार फिर से निशाने पर आ गई है। वहीं मेघालय के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने भी मामले को लेकर हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर का विरोध किया है। एनडीटीवी से बातचीत के दौरान उन्होंने सीएम खट्टर से माफी की भी मांग की। उनकी इस बात को लेकर अब कांग्रेस नेता अलका लांबा ने ट्वीट किया है, जो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। अपने ट्वीट में अलका लांबा ने लिखा कि अब इनकी छुट्टी तय है।

करनाल में किसानों पर हुए लाठीचार्ज पर राज्यपाल सत्यपाल मलिक का कहना है कि उस एसडीएम को एक मिनट के लिए भी नौकरी में नहीं रहना चाहिए। उसके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई अब तक हो जानी चाहिए थी। सीएम मनोहर लाल खट्टर को किसानों से माफी मांगनी चाहिए। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि सीएम खट्टर जानबूझकर संवेदनशील जगहों पर अपनी मीटिंग रख रहे हैं, चाहे वह जींद हो या करनाल।

मेघालय के राज्यपाल के इस वीडियो को कांग्रेस नेता अलका लांबा ने ट्विटर हैंडल से साझा किया। उन्होंने राज्यपाल के बयान पर रिएक्शन देते हुए लिखा, “लिखकर रख लो, राज्यपाल सत्यपाल मलिक जी की छुट्टी होना तय है।” कांग्रेस नेता के इस ट्वीट पर अब सोशल मीडिया यूजर भी खूब कमेंट कर रहे हैं।

शीतल कुमारी नाम की यूजर ने कांग्रेस नेता से सहमति जाहिर करते हुए लिखा, “सही बात।” प्रमोद छप्परवाल नाम के यूजर ने ट्वीट पर चुटकी लेते हुए लिखा, “हम भाईयों, बहनों से ज्यादा मित्रों शब्द का प्रयोग ऐसे ही थोड़ी ना करते हैं। उसके लिए लगातार अठारह अठारह घंटे काम करना पड़ता है।”

आशुतोष सिंह नाम के यूजर ने मेघालय के राज्यपाल की बातों पर रिएक्शन देते हुए लिखा, “किसानों के मामले में उनका जमीर जिंदा है। वैसे भी इंटरव्यू में ही उन्होंने कहा कि कोई पद मायने नहीं रखता है किसानों के समर्थन के लिए। बहुत कम जिंदा जमीर बचे हैं अब भाजपा में।” तेज बहादुर यादव नाम के यूजर ने लिखा, “माननीय श्री मलिक जी ने तो स्पष्ट कहा है कि वह कल राज्यपाल रहेंगे या नहीं, उन्हें इसकी कोई चिंता नहीं है।”