मेरी पिछली सभी फिल्में बेहूदा थीं- जब अपनी ही फिल्मों पर देव आनंद ने की ऐसी टिप्पणी, बताई थी ये वजह

देव आनंद को लगता था कि उन्होंने पीछे जो भी फिल्में बनाई, वो और अच्छी हो सकतीं थीं। वो कहते थे कि उनकी सभी शुरुआती फिल्में बेहूदा थीं।

dev anand, dev anand movies, prabhu chawla अभिनेता देव आनंद (Photo-Indian Express Archive)

हिंदी फ़िल्म इंडस्ट्री को आगे बढ़ाने में दिवंगत अभिनेता देव आनंद का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। उन्होंने कई ऐसी फिल्में बनाई जिनका नाम सिनेमा के इतिहास में स्वर्णाक्षरों में दर्ज हो गया। गाइड, ज्वेल थीफ़, पेइंग गेस्ट, हरे रामा हरे कृष्णा, कुछ ऐसी ही फिल्में थीं। लेकिन देव आनंद को लगता था कि उन्होंने पीछे जो भी फिल्में बनाई, वो और अच्छी हो सकतीं थीं। वो कहते थे कि उनकी सभी शुरुआती फिल्में बेहूदा थीं। हालांकि वो गाइड, हरे रामा हरे कृष्णा को अपनी अच्छी फ़िल्मों में शुमार बताते थे।

देव आनंद ने प्रभु चावला के शो, ‘सीधी बात’ में अपनी फ़िल्मों पर बात की। साल 2002 में दिए एक इंटरव्यू में देव आनंद ने बताया था कि उन्होंने 100 से अधिक फ़िल्मों में काम किया है लेकिन शुरू की फिल्में अच्छी नहीं थीं। वो बोले, ‘शुरू शुरू की मेरी फिल्में तो बहुत बेहूदा थीं। मैंने कभी अपने आप को पसंद नहीं किया काम के हिसाब से।’

उन्होंने आगे कहा था, ‘अब मैं पीछे मुड़कर देखता हूं, पीछे की फ़िल्मों का विश्लेषण करता हूं तो लगता है सारी बेहूदा थीं। आज मेरा दिमाग इतना विकसित हो गया है कि मैं अगर आज वो फिल्में बनाता तो शायद उससे भी बेहतर बनाता। ये फैक्ट है, झूठ नहीं बोल रहा।’ इसी दौरान उन्होंने बताया कि गाइड और हरे रामा हरे कृष्णा जैसी फिल्में अच्छी थीं।

‘हरे रामा हरे कृष्णा’ फ़िल्म को बनाने के लिए देव आनंद ने बहुत मेहनत की थी। फ़िल्म की अभिनेत्री के लिए भी उन्होंने किसी स्थापित अभिनेत्री को नहीं चुना बल्कि एक ऐसी ही लड़की की तलाश महीनों करते रहे जो उनके किरदार को मैच करती हो। फ़िल्म की हीरोइन को नशे की लत थी जिसके लिए देव आनंद एक खुले विचारों वाली लड़की ढूंढ रहे थे।

उन्हीं दिनों एक पार्टी में उनकी मुलाकात आज़ाद ख्यालों वाली ज़ीनत अमान से हुई। ज़ीनत ने जब उनके लिए सिगरेट सुलगाया तो उनके आंखों की चमक देख वो बोल पड़े थे कि तुम ही मेरी फ़िल्म की हीरोइन हो। फ़िल्म के लिए ज़ीनत साइन कर ली गई थीं और इस फ़िल्म ने उन्हें खासी लोकप्रियता दिलाई। इस फिल्म के लिए जीनत को बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस का फिल्मफेयर पुरस्कार भी मिला।