मैं अच्छा बाप नहीं हूं- जब बुलाने पर भी करीब नहीं आए नन्हे अबराम, शाहरुख खान को हुआ था ये एहसास; खुद किया था बयां

शाहरुख ने एक दिन अबराम को पास बुलाया लेकिन वह शाहरुख के पास नहीं आए। तब एसआरके के मन में कई सवाल उठने लगे थे।

Shahrukh Khan, AbRam, शाहरुख खान, Shahrukh Khan, सुपरस्टार शाहरुख खान के बेटे आर्यन और अबराम खान (फोटो सोर्स- गौरी खान इंस्टा)

सुपरस्टार शाहरुख खान अपने बच्चे आर्यन खान, अबराम खान और सुहाना को लेकर कई किस्से साझा करते नजर आते रहे हैं। एक बार शाहरुख खान ने छोटे बेटे अबराम को लेकर बताया था कि शाहरुख ने एक दिन अबराम को पास बुलाया लेकिन वह शाहरुख के पास नहीं आए। तब एसआरके के मन में कई सवाल उठने लगे थे।

शाहरुख खान ने एक बार मीडिया से बातचीत के दौरान बताया था- ‘मैं अबराम के साथ बैठा हुआ था एक दिन, तो मैंने उसे कहा कि मेरे पास बैठ। लेकिन वो वहां से चला गया, मेरे पास आकर नहीं बैठा। तो मुझे ऐसे ऐसे खयाल आने लगे कि मैं एक अच्छा बाप नहीं हूं! मैंने इसको मोहब्बत नहीं दी? कहीं ऐसा तो नहीं कि मैं फिल्मों को ज्यादा समय देता हूं? बच्चों को टाइम नहीं दे पा रहा हूं। एक दिन ये खड़ा होगा एक लड़की के साथ और कहेगा कि काट कर कालीन में हीरों के पैबंद नहीं लगाए जाते, मैं छोड़कर जा रहा हूं तुम्हें।’

एक अन्य इंटरव्यू में शाहरुख ने अपने बच्चों को लेकर इंटरस्टिंग बातें शेयर की थीं। डीएनए को दिए इंटरव्यू में शाहरुख ने कहा था कि वह एक प्रोटेक्टिव पिता बिलकुल नहीं है, वह दिखने में जरूर ऐसे लगते होंगे, लेकिन ऐसा नहीं है। शाहरुख ने बताया कि ‘मैं एक प्रोटेक्टिव पिता की तरह नजर जरूर आता हूं लेकिन ऐसा नहीं है। आप उनकी लाइफ को लीड नहीं कर सकते।’

अबराम को लेकर शाहरुख ने कहा था, ‘जब भी कभी टीवी पर मेरी कोई फिल्म आ रही होती है जिसमें मैं फाइट सीन कर रहा होता हूं तो उस वक्त अबराम सोचता है कि वह सब सच है। इसके बाद जब वो उन लोगों से मिलता है तो उन्हें डर्टी लुक देता है। यह उसने काजोल के साथ किया था। जब अबराम ने फिल्म ‘दिलवाले’ वाला सीन देख लिया था तब उसने ऐसा किया था। ‘रईस’ के दौरान अबराम नवाज भाई पर गुस्सा होने लगा था।’

शाहरूख ने कहा था कि वह एक बहुत ही कूल किस्म के फादर हैं। उन्होंने बताया था कि- ‘जब आर्यन और मैं दोनों साथ होते हैं तो बिना शर्ट पहने एक साथ लेट कर वक्त बिताते हैं और कुछ डर्टी जोक्स भी क्रैक करते हैं। वह हमेशा मुझे नई गालियों के बारे में बताने में एक्साइटेड रहता है जो वो सीखकर आता है। मैं दिल्ली से हूं और वो हिंदी भाषा में गाली देना, इस एज से मैं गुजर चुका हूं। मैं उसे अक्सर कहता हूं कि इस गाली का दूसरा वर्जन मैं सिखाऊंगा। यह बहुत कूल है।’