‘मैं पंजाब का पूर्व CM नहीं गोलकीपर हूं’, टैग करने से परेशान खिलाड़ी ने लिखा- कैप्टन अमरिंदर ने दिया जवाब

गोलकीपर अमरिंदर सिंह के ट्वीट पर पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने भी जवाब दिया। अमरिंदर सिंह ने जवाब देते हुए लिखा कि मेरी सहानुभूति आपके साथ है, मेरे युवा दोस्त, आपको आगे के मैच के लिए शुभकामनाएं।

राजनीतिक ख़बरों में पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के बदले खुद को टैग किए जाने से भारतीय फुटबॉल टीम के गोलकीपर अमरिंदर सिंह परेशान हो गए और उन्होंने लोगों से टैग ना करने की अपील की। (फोटो: एएनआई/एक्सप्रेस फोटो)

पंजाब की सियासत में जारी उठापटक के बीच नाम को लेकर भी बड़ा कन्फ्यूजन हो गया। लोगों ने पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के बदले भारतीय फुटबॉल टीम के गोलकीपर अमरिंदर सिंह को ही सोशल मीडिया पर टैग करना शुरू कर दिया। टैग करने से परेशान होने पर उन्हें ट्वीट करते हुए लिखना पड़ा कि मैं पंजाब का पूर्व मुख्यमंत्री नहीं बल्कि गोलकीपर हूं। अमरिंदर सिंह के इस ट्वीट पर कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी जवाब दिया।

दरअसल पिछले कुछ महीने से पंजाब की राजनीति में उठापटक चल रही है। पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर इस उठापटक के केंद्र में हैं। इसी को लेकर उन्हें राजनीति से जुडी ख़बरों में टैग भी किया जाता है लेकिन नाम में कन्फ्यूजन को लेकर कई लोगों ने उनके बदले भारतीय फुटबॉल टीम के गोलकीपर अमरिंदर सिंह को ही टैग करना शुरू दिया। लगातार कई जगहों पर टैग किए जाने से वे परेशान हो गए और उन्होंने ट्वीट कर लोगों से टैग ना करने की अपील की। 

भारतीय फुटबॉल टीम के गोलकीपर अमरिंदर ने ट्वीट करते हुए लिखा कि प्रिय न्यूज मीडिया, जर्नलिस्ट, मैं अमरिंदर सिंह हूं, भारतीय फुटबॉल टीम का गोलकीपर ना कि पंजाब का पूर्व मुख्यमंत्री। इसलिए कृपया करके मुझे टैग करना बंद करें। गोलकीपर अमरिंदर सिंह के इस ट्वीट पर पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने भी जवाब दिया। अमरिंदर सिंह ने जवाब देते हुए लिखा कि मेरी सहानुभूति आपके साथ है, मेरे युवा दोस्त, आपको आगे के मैच के लिए शुभकामनाएं।

गुरुवार को कांग्रेस से अलग होने का ऐलान करने के बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह ने एक बार फिर कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू पर जमकर निशाना साधा। कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि सिद्धू पंजाब के लिए सही व्यक्ति नहीं है, अगर वो चुनाव लड़ेगा, जहां से भी लड़ेगा मैं उसको जीतने नहीं दूंगा। साथ ही उन्होंने कहा कि  वह गंभीर व्यक्ति नहीं हैं और सबको साथ लेकर काम नहीं कर सकते। 

इसके अलावा उन्होंने यह भी कहा कि अफसर हटाने का काम प्रधान का नहीं है, अफसर को मुख्यमंत्री लगाता, हटाता और बदलता है। मेरे 9.5 साल के मुख्यमंत्री के कार्यकाल में कई प्रधान रहे हैं, हमारी एक-दूसरे से बातचीत होती थी। लेकिन कभी ये हाल नहीं थे जो सिद्धू ने बनाए हैं।