मैं राज कुंद्रा हूं? उसके जैसी लगती हूं? रिपोर्टर ने पूछा पति राज कुंद्रा से जुड़ा सवाल तो भड़क गईं शिल्पा शेट्टी

शिल्पा शेट्टी एक इवेंट के दौरान प्रेस को संबोधित कर रहीं थीं इसी बीच उनसे राज कुंद्रा से जुड़ा सवाल पूछ लिया गया। शिल्पा शेट्टी ने नाराज होते हुए कहा कि क्या मैं राज कुंद्रा हूं?

raj kundra, shilpa shetty, raj kundra case राज कुंद्रा पिछले हफ्ते ही जेल से रिहा हुए हैं (Photo-Raj Kundra/Instagram)

अभिनेत्री शिल्पा शेट्टी के पति राज कुंद्रा पोर्नोग्राफिक कंटेंट मामले में दो महीनों के बाद पिछले हफ्ते ही जेल से रिहा हुए हैं। उन पर आरोप है कि वो पोर्नोग्राफिक कंटेंट को ऐप्स के माध्यम से शेयर करते हैं। इस मामले को लेकर शिल्पा शेट्टी भी निशाने पर हैं। हाल ही में शिल्पा शेट्टी से उनके पति राज कुंद्रा से जुड़ा सवाल पूछ लिया गया जिस पर वो भड़क गईं।

शिल्पा शेट्टी एक इवेंट के दौरान प्रेस को संबोधित कर रहीं थीं इसी बीच उनसे राज कुंद्रा से जुड़ा सवाल पूछ लिया गया। शिल्पा शेट्टी ने नाराज होते हुए कहा, ‘मैं राज कुंद्रा हूं? मैं उसके जैसी दिखती हूं? नहीं, नहीं मैं कौन हूं? मैं इस बात पर विश्वास करती हूं कि एक सेलेब्रिटी होने के नाते मुझे न तो कंप्लेन करना चाहिए और न ही जवाब देना चाहिए। ये मेरी ज़िंदगी की फिलोसॉफी रही है।‘

राज कुंद्रा की गिरफ़्तारी के बाद से ही शिल्पा शेट्टी अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर मोटिवेशनल कोट्स शेयर करती दिखीं हैं। वो अपनी पोस्ट में बराबर इस बात का ज़िक्र करतीं दिखीं हैं कि मुश्किल वक़्त में भी लोगों को काम करना चाहिए।

अपनी एक पोस्ट में शिल्पा ने लिखा, ‘हम सबने सुना है कि दुख हमें मज़बूत बनाता है और हम कठिनाइयों से सीखते हैं। ये सच हो सकता है लेकिन ये उतना आसान नहीं जितना हम सोचते हैं। मुश्किल वक़्त हमें बेहतर नहीं बनाता बल्कि मुश्किल वक़्त में काम करना हमें बेहतर बनाता है। कष्ट सहकर हमें अपनी उन क्षमताओं के बारे में पता चलता है जिसके बारे में हम पहले कभी नहीं जानते थे। अपनी उन क्षमताओं को ढूंढना हमें आने वाले मुश्किल वक़्त से बेहतर तरीके से लड़ने में मदद करता है।‘

शिल्पा ने अपनी पोस्ट में लिखा कि सबकी तरह उन्हें भी ऐसे मुश्किल वक़्त से गुजरना अच्छा नहीं लगता लेकिन वो जानती हैं कि इससे पार कैसे पाना है।

राज कुंद्रा जब जेल से रिहा हुए तब भी शिल्पा शेट्टी ने एक पोस्ट किया था जिसमें उन्होंने लिखा, ‘ऐसे वक़्त आएंगे जिंदगी में जब आप ज़मीन पर गिरते हैं। ऐसे वक़्त में मेरा मानना है कि अगर आप सात बार गिरते हैं तो खुद को इस बात के लिए मज़बूत बनाइए कि आठवीं बार मजबूती के साथ खड़े हो सकें। इसके लिए आपको मुश्किल वक़्त में ढेर सारा साहस, इच्छा शक्ति और शक्ति चाहिए होगी।‘