मोदी और शाह करते थे कोरोना फैलाने वाले कार्यक्रम, दोनों महामारी के लिए जिम्मेदार, बोले राहुल गांधी

राहुल गांधी ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी और गृहमंत्री अमित शाह ने ऐसे कार्यक्रमों में हिस्सा लिया जिनके कारण कोरोना में तेजी आने का खतरा था।

rahul gandhi, corona , covid19

कोरोना के बढ़ते संक्रमण और देश की ख़राब स्वास्थ्य व्यवस्था को लेकर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री मोदी और केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी और गृहमंत्री अमित शाह इस कोरोना महामारी के जिम्मेदार हैं। उन्होंने जानबूझ कर चुनाव प्रचार के दौरान वायरस फैलाने वाले कार्यक्रम को बढ़ावा दिया और उसकी प्रशंसा भी की। 

शनिवार को समाचार एजेंसी पीटीआई को दिए इंटरव्यू में कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने देश के हालात के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पूरी तरह जिम्मेदार ठहराया। राहुल गांधी ने कहा कि वे पूरी तरह केंद्रीयकृत एवं निजीकृत सरकारी मशीनरी चला रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री और गृहमंत्री अमित शाह ने ऐसे कार्यक्रमों में हिस्सा लिया जिनके कारण कोरोना में तेजी आने का खतरा था। यही नहीं, दोनों नेताओं ने इस बात के लिए शेखी भी बघारी।

कांग्रेस नेता ने कहा कि कोविड-19 ने देश में तबाही बरपा दी है। यह लहर नहीं, सुनामी है, जिसने सब कुछ नष्ट कर दिया है। और, अब जब हालात बेकाबू हो गए हैं, केंद्र सरकार ने गेंद राज्यों की ओर उछाल दी है। नागरिकों को पूरी तरह आत्मनिर्भर कर दिया गया है। वैक्सीनों की कीमतों की तुलना उन्होंने दुकानों पर लगने वाले डिस्काउंट ‘सेल’ से की। राहुल गांधी ने कहा कि पहले दाम बढ़ा दिए और फिर नीचे गिरा दिए। यह एकतरह से जनता को बेवकूफ बनाना है।

कांग्रेस पार्टी में आंतरिक लोकतंत्र के सवाल पर राहुल ने कहा कि वे संगठन के चुनावों के हिमायती हैं। कार्यकर्ता ही यह तय करेंगे कि पार्टी का नेतृत्व किसे करना चाहिए। गांधी ने साथ ही इस बात पर भी जोर दिया कि पार्टी उनसे जो भी कहेगी, वह करेंगे। उन्होंने कहा कि पार्टी के चुनाव समय पर होंगे लेकिन इस समय तात्कालिक जरूरत यह है कि महामारी को काबू कर जीवन बचाया जाए। उल्लेखनीय है कि कांग्रेस के 23 वरिष्ठ नेताओं के समूह द्वारा पार्टी का संगठनात्मक चुनाव जल्द कराने और पूर्णकालिक कांग्रेस अध्यक्ष की मांग पूर्व में की गई थी।