मोदी जी अपनी पुश्तैनी ज़मीन बेचकर टीके दे रहे हैं क्या? कांग्रेस नेता ने पूछा सवाल तो यूजर्स देने लगे ऐसे जवाब

रागिनी नायक ने पूछा कि नरेंद्र मोदी अपनी पुश्तैनी जमीन जायदाद बेचकर कोविड के टीके दे रहे हैं क्या। कांग्रेस नेता के इस बयान पर यूजर्स भी अपनी प्रतिक्रिया देने लगे।

नरेंद्र मोदी ने 7 जून को मुफ्त टीकाकरण का ऐलान किया था (Photo-ANI)

भारत में कोविड-19 टीकाकरण का अगला चरण 21 जून से शुरू हो गया है जिसके तहत केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार 18 साल से अधिक उम्र वाले लोगों को मुफ्त वैक्सीन मुहैया करा रही है। मुफ्त टीकाकरण को लेकर सोशल मीडिया पर एक वर्ग नरेंद्र मोदी सरकार की तारीफ़ में हैशटैग भारत थैंक्स मोदी जी ट्रेंड कराने लगा जिस पर कांग्रेस की नेता रागिनी नायक ने अपनी आपत्ति जताई है। रागिनी नायक ने पूछा कि नरेंद्र मोदी अपनी पुश्तैनी जमीन जायदाद बेचकर टीके दे रहे हैं क्या।

रागिनी नायक ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से ट्वीट किया, ‘ये मोदी जी अपनी पुश्तैनी ज़मीन-जायदाद बेच कर टीके उपलब्ध करा रहे हैं क्या ? जब ऑक्सीजन, दवा, टीकों, अस्पतालों की किल्लत पर… लाखों भारतीयों की मौत पर…‘Bharat Damns Modi Ji’ नहीं कहा। तो फिर आज Bharat Thanks Modi Ji क्यों भला?’

कांग्रेस नेता के इस ट्वीट पर ट्विटर यूजर्स की भी प्रतिक्रिया देखने को मिल रही है। दीपक नाम के एक यूजर ने लिखा, ‘ये नरेंद्र मोदी जी ने अपनी कार्यकुशलता और विपरीत परिस्थिति में भी अपने आत्मबल और सेवा भाव से युक्त होकर भारत के वैज्ञानिकों के साथ वैक्सीन पर इतनी जल्दी कार्य कर के करोड़ों लोगों को वैक्सीन की व्यवस्था भी करवा दिया। तो फिर आज भारत मोदी को धन्यवाद क्यों न दे भला।’

आसिफ लारी नाम के एक यूजर ने लिखा, ‘अंधभक्त ही मोदी जी को थैंक्स बोल सकते हैं।’ धीरेंद्र कुमार नाम के एक यूजर ने लिखा, ‘इतनी बड़ी आपदा से सिवाय दूर भागने के किया ही किया है। सभी पीड़ितों ने अपने स्तर पर अपनी देखभाल की है। उन्होंने तो सहायता करने वालों को भी तकलीफों के सिवाय कुछ नहीं दिया। थैंक्स भी अंधभक्तों के अलावा कोई नहीं दे रहा।’

सुकन्या देवी नाम की एक यूजर ने लिखा, ‘तो जब आप लोग बोलते हो कि कांग्रेस ने ये किया, कांग्रेस ने वो किया तो वो पैसा कहां से आया था।’ दीपक पंडित नाम के यूजर लिखते हैं, ‘आपने वो कहावत सुनी होगी। लोग (कांग्रेस) अपने दुख से दुखी नहीं, दूसरे के सुख से दुखी है।’ वेंकटेश नाम के यूजर ने रागिनी नायक को जवाब दिया, ‘नेहरू जी ने AIIMS क्या अपनी पुश्तैनी जमीन जायदाद बेचकर बनाई थी जो कांग्रेसी परिवार के कसीदे पढ़े जाते हैं।’

आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 7 जून को यह ऐलान किया था कि राज्यों को कोविड टीकों की खरीद नहीं करनी होगी बल्कि खुद केंद्र सरकार टीकों की खरीद कर 18 से अधिक उम्र के लोगों को मुफ्त वैक्सीन देगी। केंद्र देश में उत्पादित 75 प्रतिशत वैक्सीन की खरीददारी कर राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को निःशुल्क वितरण करेगी।