मोदी सरकार तालिबान के साथ दृढ़ता से खड़ी है- कांग्रेस नेता के आरोप पर भड़के भाजपा प्रवक्ता, बोले- भाषण देना बंद कीजिए

किसानों पर हुए लाठीचार्ज को लेकर इंडिया टीवी के डिबेट शो में चर्चा हुई, जहां कांग्रेस नेता अभय दुबे ने मोदी सरकार पर जमकर आरोप लगाए।

pm narendra modi, srinivas bv प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस)

करनाल में बीते दिन किसानों पर हुए लाठीचार्ज के कारण मोदी सरकार विपक्ष के निशाने पर आ गई है। भाकीयू नेता राकेश टिकैत ने मामले को लेकर हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के व्यवहार को जनरल डायर जैसा बताया। इस मामले को लेकर इंडिया टीवी के डिबेट शो मुकाबला में भी चर्चा हुई, जहां कांग्रेस नेता अभय दुबे ने मोदी सरकार पर जमकर आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार तालिबान के साथ दृढ़ता से खड़ी है। उनके बयानों पर भाजपा प्रवक्ता राजीव जेटली भड़के नजर आए।

डिबेट में न्यूज एंकर ने मामले को लेकर सवाल किया था कि क्या इसकी तुलना तालिबान से की जानी चाहिए? इसका जवाब देते हुए कांग्रेस नेता अभय दुबे ने कहा, “मोदी सरकार तालिबान के साथ पूरी दृढ़ता से खड़ी है। प्रधानमंत्री जिस वक्त जलियावाला बाग पर भाषण दे रहे थे, उस समय उनकी सरकार जलियावाला बाग को दोहरा रही थी। उनका प्रशासनिक अधिकारी कह रहा था कि सिर फूटना चाहिए।”

कांग्रेस नेता अभय दुबे ने मोदी सरकार को आड़े हाथों लेते हुए आगे कहा, “किसान सिर्फ झोली फैला कर अपना हक मांग रहे हैं, जो मोदी जी ने पूंजीपतियों की झोली में डाल दिया है। झूठ बोलकर इन्होंने संसद में कानून पास कर दिया, सुप्रीम कोर्ट तक में झूठा पत्र दे दिया। हम तो सड़कों पर भी लड़ रहे हैं, लेकिन क्या मोदी जी का ट्वीट किसानों के साथ हुई बर्बरता पर आया।”

डिबेट में कांग्रेस नेता अभय दुबे का बोलना जारी रहा, जिसपर नाराजगी जाहिर करते हुए राजीव जेटली ने कहा, “भाषण देना बंद कीजिए, मैं आपकी ही बात बता रहा हूं। मैं चुनौती देता हूं कि मुझे एक भी कृषि योजना को लेकर कांग्रेस बता दे कि हमने भाजपा से बेहतर की थी। हमने 1.5 लाख करोड़ रुपये किसानों के खाते में डाला था, आप तो किसानों का खाद बेचकर खा जाते थे।”

भाजपा नेता ने अपने बयान में आगे कहा, “एक भी मुख्यमंत्री ऐसा बता दीजिए, जिसने किसानों के ऊपर गोली न चलवाई हो। मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर पहले ऐसे सीएम हैं, जिसने किसानों के साथ डंडे पर बहस की हो। इनका कौन सा मुख्यमंत्री ऐसा है, जिसने किसानों पर गोली न चलवाई हो।”