यूक्रेन के इस शहर को रूस ने बनाया मलबे का ढेर, भारी बमबारी में दो लोगों की मौत

कीव. यूक्रेन के शहर ज़ापोरिज्जिया में रूस ने एक बार फिर भारी बमबारी शुरू कर दी है. ज़ापोरिज्जिया शहर के क्षेत्रीय गवर्नर ऑलेक्ज़ेंडर स्टारुख ने टेलीग्राम पर कहा कि गुरुवार तड़के रूसी सेना द्वारा की गई गोलाबारी में कम से कम दो लोगों की मौत हो गई है. शहर में रात भर हुई बमबारी में कई आवासीय भवन पूरी तरह से मलबे में तब्दील हो गए हैं. गवर्नर के मुताबिक एक महिला की मौके पर ही मौत हो गई थी तो वहीं एक अन्य ने एंबुलेंस में दम तोड़ दिया. ऑलेक्ज़ेंडर स्टारुख ने बताया कि कम से कम 5 लोग इमारतों के मलबे में दबे हो सकते हैं जिन्हें निकालने का काम जारी है.

रेस्क्यू ऑपरेशन जारी
अधिकारियों ने बताया कि राकेट हमलों के बाद मलबे में बदली बिल्डिंग के आस पास रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू हो गया है. इस दौरान कई लोगों को बचाया गया है जिसमें एक तीन साल की बच्ची भी शामिल है. अभी तक मिली जानकारी के अनुसार रूस की सेना ने शहर की ऊंची इमारतों पर सात रॉकेट दागे हैं. मलबों में अभी भी दर्जनों लोगों के दबे होने की आशंका है.

कार बाजार पर हमले में हुई थी 23 लोगों की मौत
इन हमलों से पहले रूस द्वारा दागी गई मिसाइल से शहर के एक कार बाजार में मौजूद 23 लोगों की मौत हो गई थी. ज़ापोरिज्जिया शहर के किनारे पर स्थित कार बाजार में रूस की मिसाइल गिरने से हुए भीषण विस्फोट की चपेट में काफी लोग आए थे. इस घटना में करीब 28 घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां उनका इलाज चल रहा है. शहर के पुलिस विभाग की एक्सप्लोसिव डिस्पोजल यूनिट के प्रमुख कर्नल सर्गेई उज्रुमोव ने दावा किया था कि कार बाजार को तीन एस 300 मिसाइलों से टारगेट किया था.

ज़ापोरिज्जिया रूस द्वारा कब्जा किए गए चार यूक्रेनी क्षेत्रों में से एक है जिसके पूर्ण नियंत्रण को लेकर यूक्रेन और रूस आमने सामने हैं. हमलों के पीछे रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के उस आदेश को वजह माना जा रहा है जिसमें उन्होंने सेना को यूरोप के सबसे बड़े ज़ापोरिज़्ज़िया परमाणु ऊर्जा स्टेशन का नियंत्रण जब्त करने का आदेश दिया है, जो अभी भी यूक्रेनी इंजीनियरों के अधीन है.

Tags: Russia ukraine war