यूक्रेन के ज़ापोरिज्जिया शहर में रूसी सेना का कहर शुरू, मिसाइल हमले के बाद बिजली गुल, लोगों की अटकीं सांसें

हाइलाइट्स

रूस की सेना ने अपने मिसाइल हमलों में अप्रत्याशित बढ़ोतरी की है
प्रारंभिक रिपोर्टों से संकेत मिला है कि मिसाइलों ने बुनियादी ढांचे को निशाना बनाया है

कीव. यूक्रेन-रूस युद्ध के 7 महीने गुजरने के बाद रूस ने अपने हमले तेज कर दिए हैं. पुतिन के लामबंदी के आदेशों के बाद रूस की सेना ने भी मिसाइल हमलों में अप्रत्याशित बढ़ोतरी कर दी है. आज यूक्रेन के ज़ापोरिज्जिया शहर में हुए एक के बाद एक रूसी सेना के मिसाइल हमलों ने लोगों को दहला दिया है. रिपोर्ट के मुताबिक हमलों के कारण शहर में बिजली की आपूर्ति भी बाधित हुई है. साथ ही यूक्रेन की सरकार से जुड़े एक अधिकारी ने बताया कि प्रारंभिक रिपोर्टों से संकेत मिला है कि मिसाइलों ने बुनियादी ढांचे को निशाना बनाया है. अभी नुकसान का पूरा आंकलन लगाया जा रहा है.

आपको बता दें कि रूस इससे पहले भी इस शहर को निशाना बना चुका है. ज़ापोरिज़्ज़िया ओब्लास्ट सैन्य प्रशासन के प्रमुख ने बताया कि ज़ापोरिज्जिया के पास ही रूसी सेना ने पांच मिसाइल हमले किये थे. इन हमलों में बुनियादी सुविधाओं और निजी घरों को निशाना बनाया गया था.

पुतिन ने दिए हैं लामबंदी के आदेश
रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने बुधवार को द्वितीय विश्व युद्ध के बाद से पहली बार रूस में लामबंदी करने का आदेश दिया है. उन्होंने पश्चिम को चेतावनी दी कि अगर उसने ‘परमाणु ब्लैकमेल’ किया तो मास्को अपने हथियारों के विशाल भंडार की पूरी ताकत से जवाब देगा. पुतिन ने लामबंदी के पीछे तर्क दिया कि वेस्टर्न वर्ल्ड चाहता है रूस यह युद्ध हार जाये. इस लामबंदी के तहत रिज़र्व बल के तौर पर तीन लाख सैन्य कर्मियों की भर्ती की जाएगी.

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी | आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी |

FIRST PUBLISHED : September 22, 2022, 11:00 IST