यूपी चुनावः डिप्टी CM होने के बाद भी वो बेचारे, केशव प्रसाद मौर्य पर तंज कस बोले स्वामी प्रसाद, गणेश परिक्रमा को लेकर कही ये बात

भाजपा प्रवक्ता शलभमणि त्रिपाठी ने कहा कि मुख़्तार अंसारी कांग्रेस, सपा और बसपा के लिए महापुरुष है। उन्होंने कहा कि ये तीनों ही पार्टियां मुख्तार अंसारी को माफिया नहीं कह सकती हैं।

Swami Prasad Maurya स्वामी प्रसाद मौर्य (फोटो[email protected])

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 को लेकर समाजवादी पार्टी और सत्ताधारी दल भाजपा के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है। हाल ही में मंत्री पद से इस्तीफा देकर समाजवादी पार्टी का दामन थामने वाले स्वामी प्रसाद मौर्य ने डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य पर तंज करते हुए उन्हें ‘बेचारा’ बताया है।

न्यूज24 से बात करते हुए स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा, “केशव प्रसाद अपनी दुर्गति का रोना खुद रो चुके हैं और वह हमारा छोटा भाई है, हमें भी तरस आता है कि उपमुख्यमंत्री रहते हुए भी वह बेचारा रह गए। उन्होंने इस त्रासदी को जगजाहिर भी किया है। इसी कारण उनके प्रति मेरी सहानुभूति है।”

भाजपा छोड़ने के दौरान उनको मनाने की बात हुई थी या नहीं, किसी ने उनको रोका था या नहीं? इस सवाल पर स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा, “ये कोई आपसी विवाद नहीं है, ये विचारों की लड़ाई है। भारतीय जनता पार्टी ने विचारों के साथ धोखा किया है, जो कहा है उसके विपरीत काम किया है। आरक्षण जैसी व्यवस्था को तहस-नहस करने की कोशिश की है।

स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा, “वो (केपी मौर्य) बेचारे थे और बेचारे ही रहेंगे, वो न कभी नेता थे और न आगे कभी नेता बन पाएंगे, उनका अपना कोई वजूद नहीं है। गणेश परिक्रमा करते रहने से उनको कुछ मिलता रहेगा तो मेरी भी उनको शुभकामकाएं मिलती रहेंगी।”

उत्तर प्रदेश चुनाव में ‘जिन्ना’ के बाद ‘पाकिस्तान’ की एंट्री भी हो चुकी है। इसी पर बात करते हुए एक टीवी डिबेट में कांग्रेस नेता पंकज श्रीवास्तव ने कहा कि जिन्ना पर जो लड़ाई कर रहे हैं वो इसलिए कर रहे हैं कि गन्ना का सवाल ना आए। कांग्रेस नेता ने कहा कि भाजपा ने वादा किया था कि सारे बकाए का भुगतान होगा, लेकिन आज भी पश्चिमी यूपी में किसान बकाए को लेकर परेशान हैं। उन्होंने कहा कि डबल इंजन सरकार की बात करते हैं लेकिन नीति आयोग की रिपोर्ट के मुताबिक, सबसे गरीब राज्यों में यूपी तीसरे स्थान पर है।