योगी आदित्यनाथ का कांग्रेस पर निशाना, बोले- ऐक्सिडेंटल हिंदू करते हैं देवी-देवताओं पर टिप्पणी, आपदा आती है तो इटली भागते हैं

योगी ने कहा कि हमारे लिए व्यक्ति से बड़ा दल है और दल से बड़ा देश है। भाजपा के कार्यकर्ता के लिए सत्ता प्राप्त करना और शासन करना मात्र लक्ष्य नहीं है।

Uttar Pradesh, Yogi उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (फोटो सोर्स – पीटीआई)

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कांग्रेस पार्टी पर हमला करते हुए कहा है कि जो ऐक्सिडेंटल हिंदू हैं वही देवी-देवताओं पर टिप्पणी करते हैं। वहीं जब आपदा आती है तो इटली भाग जाते हैं। मुख्यमंत्री भाजपा के प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे।

योगी ने कहा कि हमारे लिए व्यक्ति से बड़ा दल है और दल से बड़ा देश है। भाजपा के कार्यकर्ता के लिए सत्ता प्राप्त करना और शासन करना मात्र लक्ष्य नहीं है। भाजपा मूल्यों और आदर्शों को लेकर राजनीति में आई है, जिससे देश की आस्था जुड़ी है। सदी की इस महामारी के दौरान अमेरिका के मुकाबले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में भारत का कोरोना प्रबंधन बेहतरीन रहा। उन्होंने कहा कि मोदी जी ने पूर्वोत्तर राज्यों के साथ संवाद स्थापित किया जो आजादी के बाद से अधूरा था।

उन्होंने कहा कि मोदी जी ने पूर्वोत्तर राज्यों के साथ संवाद स्थापित किया जो आजादी के बाद से अधूरा था। यूपी की चर्चा करते हुए बीते साढ़े चार वर्षों में यूपी में एक भी दंगा नहीं हुआ है। जनता ने हमें समर्थन दिया और हमने उन्हें सुरक्षा दी। सपा पर हमला करते हुए उन्होंने कहा कि जब उत्तर प्रदेश बेहाल रहता था तब सैफई में नाच-गाने का मंचन होता था। उन्होंने कहा कि अब कोई माफिया किसी सरकारी या गरीब की जमीन पर कब्जा नहीं कर पा रहा है। प्रयागराज में 100 एकड़ भूमि हमारे सुपुर्द की गई है। पहले हम देश के राज्यों में छठवीं अर्थव्यवस्था थे, लेकिन हम छलांग लगाकर दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बने हैं।

योगी ने कहा कि जब हम सरकार में आए तब 75 जनपदों में से मात्र 12 जनपदों में मेडिकल कॉलेज थे और आधुनिक स्वास्थ्य सुविधाएं नहीं थीं। अगर तब कोरोना महामारी आ गई होती तो प्रदेश की क्या हालत होती। उत्तर प्रदेश ने कोरोना प्रबंधन का मॉडल सेट किया है। देश में जब आपदा आती है तो एक पार्टी के लोग इटली भाग जाते हैं। योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हमें गर्व होना चाहिए कि अयोध्या, मथुरा, काशी व गंगा, यमुना और सरस्वती, त्रिवेणी संगम, प्रयागराज उत्तर प्रदेश में है। हमें इन आस्था केन्द्रों पर गौरव की अनुभूति होनी चाहिए।