रक्षक ही बने भक्षक! यूक्रेन में ‘सेक्स वर्कर’ बनाने वाले गिरोह का पर्दाफाश, इसमें कई अधिकारी शामिल, जानें जेलेंस्की ने क्या कहा

हाइलाइट्स

यूक्रेन में वेश्यावृत्ति के एक बड़े गिरोह का पर्दाफाश किया गया है.
इस काम में पुलिस के प्रवासन विभाग के अधिकारी भी शामिल थे.
इस गिरोह की मासिक आय लगभग 13 लाख यूएस डॉलर आंकी गई है.

नई दिल्ली. रूस-यूक्रेन युद्ध (Russia Ukraine War) के बीच एक बड़ी खबर आ रही है. यूक्रेन (Ukraine) में वेश्यावृत्ति (Prostitution Ring) कराने वाले एक गिरोह का पर्दाफाश किया गया है. यूक्रेन की एसबीयू सुरक्षा सेवा ने बुधवार को कहा है कि आप्रवास अधिकारियों (Immigration Officials) द्वारा चलाए जा रहे वेश्यावृत्ति के गिरोह को तोड़ दिया गया है. एसबीयू सुरक्षा सेवा ने कहा कि यह भ्रष्ट प्रथाओं को कुचलने और भ्रष्टाचार को खत्म करने के पश्चिमी मानकों को पूरा करने के अभियान का हिस्सा है.

रॉयटर्स के अनुसार एसबीयू ने कहा कि इस गिरोह का नेतृत्व राष्ट्रीय पुलिस के प्रवासन विभाग के अधिकारी कर रहे थे, जो आम तौर पर विस्थापित लोगों के हितों की रक्षा के लिए जिम्मेदार होते हैं. सोशल मीडिया पर शेयर की गई तस्वीरों में वर्दीधारी अधिकारियों की एक इमारत पर छापा मारने और कई पुरुषों को एक कमरे में रखने के साथ-साथ बड़ी मात्रा में नकदी और एक अपार्टमेंट में सोफे पर बैठी युवतियों की तस्वीरें शामिल हैं.

पढ़ें- यूक्रेनः रिहायशी बिल्डिंग पर गिरी रूसी मिसाइल, 3 लोगों की मौत, 8 अपार्टमेंट हुए ध्वस्त, जेलेंस्की का छलका दर्द

एसबीयू ने अपने बयान में कहा है कि गिरोह का पर्दाफाश करने वाले वरिष्ठ अधिकारियों ने कीव और अन्य क्षेत्रों में वेश्यावृत्ति के लिए एक व्यापक ‘संरक्षण’ का पर्दाफाश किया है. इस गिरोह की मासिक आय लगभग 13 लाख यूएस डॉलर आंकी गई है. यह गिरोह 18-30 वर्ष की आयु की महिलाओं का फायदा उठाता था. इन महिलाओं को यूक्रेन और विदेशों के ग्राहकों को भेजा जाता था. इसके लिए ग्राहकों से 20 से 270 डॉलर तक चार्ज किया जाता था.

रात के एक वीडियो संबोधन में राष्ट्रपति वलोडिमिर जेलेंस्की ने सुरक्षा सेवाओं को इन शर्मनाक घटनाक्रमों पर त्वरित एक्शन लेने के लिए धन्यवाद दिया है. बता दें कि रूस और यूक्रेन युद्ध को शुरू हुए इस साल 20 फरवरी को पूरे एक साल हो जाएंगे. संयुक्त राष्ट्र (United Nations) के आंकड़ों के अनुसार रूस के आक्रमण ने 70 लाख से अधिक लोगों को यूक्रेन छोड़ने के लिए मजबूर किया है. हालांकि, लगभग आधे बाद में घर लौट आए.

Tags: Ukraine, Ukraine News