रसोई गैस सिलेंडर की कीमतों में 25 रुपए की बढ़ोतरी, MP में अमूल दूध हुआ और महंगा

एक साल में, रसोई गैस सिलेंडर की कीमतों में 165.50 रुपये की वृद्धि हुई है।

LPG,cylinder LPG गैस सिलिंडर की डिलीवरी करता कर्मचारी। (एक्सप्रेस आर्काइव फोटो)

पेट्रोलियम कंपनियों ने एक बार फिर घरेलू रसोई गैस सिलेंडर के दाम बढ़ा दिए हैं। बिना सब्सिडी वाले सिलेंडर की कीमत में 25 रुपये की बढ़ोतरी की गई है। दिल्ली में 14.2 किलो का एलपीजी सिलेंडर अब 859.5 रुपये हो गया है। जबकि इससे पहले यह 834.50 रुपये मिल रहा था। इससे पहले 1 जुलाई को रसोई गैस सिलेंडर की कीमत में 25.50 रुपये की बढ़ोतरी की गई थी।

मुंबई में भी 14.2 किलो एलपीजी सिलेंडर का रेट अब 859.5 रुपये है, जबकि अब तक यह 834.50 रुपये था। कोलकाता में रसोई गैस सिलेंडर की दर 861 रुपये से बढ़कर 886 रुपये प्रति सिलेंडर हो गई है। जबकि चेन्नई में आज से रसोई गैस सिलेंडर के लिए आपको 875.50 रुपये देने होंगे, जो कल तक 850.50 रुपये था। लखनऊ, उत्तर प्रदेश में एलपीजी सिलेंडर के लिए आपको 897.5 रुपये देने होंगे। वहीं, अहमदाबाद, गुजरात में रसोई गैस के लिए 866.50 रुपये का भुगतान करना होगा। आमतौर पर सरकारी तेल कंपनियां हर महीने के पहले दिन गैस सिलेंडर (एलपीजी प्राइस) के दाम में बदलाव करती हैं।

साल 2021 की शुरुआत में यानी जनवरी में दिल्ली में रसोई गैस सिलेंडर की कीमत 694 रुपये थी, जिसे फरवरी में बढ़ाकर 719 रुपये प्रति सिलेंडर कर दिया गया था। 15 फरवरी को कीमत बढ़ाकर 769 रुपये की गई थी। इसके बाद 25 फरवरी को एलपीजी सिलेंडर की कीमत 794 रुपये कर दी गई थी। मार्च में एलपीजी सिलेंडर की कीमत 819 रुपये हो गई थी।

अप्रैल की शुरुआत में 10 रुपये कम किए गए थे, दिल्ली में घरेलू रसोई गैस की कीमत 809 रुपये हो गई थी। एक साल में, रसोई गैस सिलेंडर की कीमतों में 165.50 रुपये की वृद्धि हुई है। बता दें कि कांग्रेस ने पेट्रोल-डीजल के दाम कम नहीं होने से संबंधित वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के एक बयान को लेकर मंगलवार को उन पर निशाना साधा और आरोप लगाया कि तेल बॉन्ड के कारण नहीं, बल्कि मोदी सरकार की ओर से 12 बार सब्सिडी घटाए जाने और केंद्रीय करों में बढ़ोतरी करने के कारण पेट्रोलियम उत्पादों की कीमतें बढ़ी हैं।

वहीं मध्य प्रदेश में अमूल ने दूध और दही की कीमत बढ़ा दी है। भोपाल, इंदौर, जबलपुर और ग्वालियर में दूध की कीमत में 2 रुपए प्रति लीटर की बढ़ोतरी की है। कंपनी का कहना है कि ईंधन की कीमत में बढ़ोतरी के चलते दूध और उससे जुड़े उत्पादों की कीमत बढ़ानी पड़ी है।