राजस्थान रॉयल्स ने टेम्पो चालक के बेटे को किया मालामाल, फिर भी चेतन सकारिया को है इस बात का दुख

चेतन के पिता नहीं चाहते थे कि उनका बेटा क्रिकेटर बने। अंकल के दखल देने के बाद क्रिकेट की राह उनके लिए आसान हुई। करीब 4-5 साल पहले उनके घर में टीवी नहीं था। क्रिकेट मैच देखने के लिए उन्हें दोस्तों या पड़ोसी के घर जाना पड़ता था।

Rajasthan Royals, Chetan Sakaria, IPL Auction 2021

राजस्थान रॉयल्स ने आईपीएल 2021 के लिए 18 फरवरी (गुरुवार) को हुई नीलामी में 8 खिलाड़ी खरीदे। इस दौरान उसने 3 विदेशी खिलाड़ियों पर दांव लगाया। राजस्थान दक्षिण अफ्रीका के क्रिस मॉरिस के लिए 16.25 करोड़ रुपए की बड़ी रकम खर्च की तो सौराष्ट्र के तेज गेंदबाज चेतन सकारिया को 1.20 करोड़ रुपए में अपनी टीम में शामिल किया। सकारिया के क्रिकेटर बनने की कहानी भी काफी रोमांचक है।

चेतन के पिता नहीं चाहते थे कि उनका बेटा क्रिकेटर बने। अंकल के दखल देने के बाद क्रिकेट की राह उनके लिए आसान हुई। करीब 4-5 साल पहले उनके घर में टीवी नहीं था। क्रिकेट मैच देखने के लिए उन्हें दोस्तों या पड़ोसी के घर जाना पड़ता था। कभी-कभी तो इलेक्ट्रॉनिक शो रूम के बाहर खड़े होकर मैच देखते थे। राजस्थान द्वारा खरीदे जाने के बाद भी चेतन को एक बात का दुख है। उन्होंने पिछले महीने अपने छोटे भाई को खो दिया था। वह उनके काफी करीब था। सकारिया ने कहा कि 1.20 करोड़ रुपए भले ही उनके जीवन को बदल सकता है, लेकिन इसके बाद भी खाली महसूस कर रहे हैं।

इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए कहा, ‘‘मेरे छोटे भाई ने जनवरी में आत्महत्या कर ली। मैं उस दौरान घर पर नहीं था। मैं सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में हिस्सा ले रहा था। मुझे इसके बारे में नहीं पता था।जब तक मैं घर लौटा वह गुजर चुका था। मेरे परिवार ने मेरे साथ इस खबर को शेयर नहीं किया। मैं राहुल के बारे पूछा तो उन्होंने कहा कि वह बाहर गया हुआ है। उसकी अनुपस्थिति मेरे लिए एक बड़ा शून्य है। अगर वह आज यहां होता तो वह मुझसे ज्यादा खुश होता।’’

दो साल पहले तक सकारिया के पिता कांजीभाई टेम्पो चलाते थे। सौराष्ट्र के नियमित गेंदबाज बनने के बाद उन्होंने अपने पिता से काम छोड़ने का अनुरोध किया। सकारिया आईपीएल 2020 में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (आरसीबी) के साथ यूएई नेट बॉलर के तौर पर गए थे। सकारिया ने कहा, ‘‘मुझे उम्मीद थी कि मैं वहां (आरसीबी) रहूंगा। जब मैं यूएई में आईपीएल के दौरान आरसीबी के लिए नेट गेंदबाज के रूप में गया था, तो आरसीबी के माइक हेसन और साइमन कैटिच ने मुझे बताया था कि मैंने किसी भी आईपीएल टीम का हिस्सा बन सकता हूं। आरसीबी ने मेरे लिए कोशिश नहीं की लेकिन किसी भी टीम के लिए चुना जाना मेरी लिए खुशी की बात है।’’