राज कपूर-वैजयंती माला के अफेयर पर बुरी तरह बिफर गई थीं पत्नी कृष्णा, गुस्से में छोड़ दिया था घर; लेजेंड ने ऐसे संभाली थी बात

जब इस बारे में पत्नी कृष्णा कपूर को पता चला तो लेजेंड राज कपूर की पत्नी उन पर बहुत भड़क गई थीं। ऐसा भी हुआ था कि पत्नी कृष्णा को उस वक्त राज कपूर संग एक छत के नीचे रहना मंजूर न हुआ

Raj Kapoor, Vaijayanti Mala, Raj Kapooer Vaijayanti Mala राज कपूर और वैजयंती माला फिल्म संगम में (फोटो सोर्स- इंस्टाग्राम)

लेजेंड राज कपूर ने हिंदी सिनेमा में एक से बढ़ एक फिल्में बनाईं। अपनी फिल्मों और लीडिंग लेडीज को लेकर राज कपूर अकसर सु्र्खियों में रहते थे। राज कपूर का नाम पहले नरगिस से जुड़ा। वहीं लेजेंड का नाम वैजयंती माला से भी जुड़ने लगा था।

जब इस बारे में पत्नी कृष्णा कपूर को पता चला तो लेजेंड राज कपूर की पत्नी उन पर बहुत भड़क गई थीं। ऐसा भी हुआ था कि पत्नी कृष्णा को उस वक्त राज कपूर संग एक छत के नीचे रहना मंजूर न हुआ। ऐसे में वह अपने बच्चों को लेकर घर छोड़ कर चली गई थीं। उस वक्त गुस्से में कृष्णा ने अपने बच्चों के साथ मरीन ड्राइव के पास एक होटल में कमरा लिया और वहीं रहने लगीं।

दरअसल, 60 के दशक में राज कपूर और वैजयंती माला के अफेयर की खूब चर्चा हुई थी। 1964 में राज कपूर वैजयंती माला और राजेंद्र कुमार ने साथ में एक फिल्म में भी काम किया था जिसका नाम था ‘संगम’। इस फिल्म के दौरान इनकी नजदीकियां भी बढ़ीं थीं। उस वक्त तो खबर ये भी थी कि राज कपूर वैजयंती माला से दूसरी शादी कर लेंगे।

रिपोर्ट्स में ये भी सामने आया था कि वैजयंती माला के लिए राज कपूर बीवी बच्चों से अलग भी हो गए थे। (जब 20 मिनट तक नरगिस की हील्स ही घूरते रहे राज कपूर, लेजेंड को हो गया था प्यार खोने का अहसास, पढ़ें पूरा किस्सा)

ऋषि कपूर ने अपनी किताब खुल्लम खुल्ला में इस घटना का जिक्र किया था। उन्होंने अपनी किताब में लिखा था- ‘मुझे अच्छे से याद है उस दिन हम मरीन ड्राइव में स्थित नटराज होटल में रहने के लिए चले गए। ये वो वक्त था जब पापा वैजयंती माला के साथ रोमांटिकली इंवॉल्व हो गए थे।’

राज कपूर को जब पता चला कि पत्नी कृष्णा बच्चों को लेकर किसी होटल में ठहरी हैं ऐसे में उन्होंने हमें एक अपार्टमेंट लेकर दे दिया। इसके बाद मम्मी औऱ हम उसी अपार्टमेंट में रहने लगे। वो अपार्टमेंट चित्रकूट में था जिसमें हम 2 महीने के लिए रुके। इस बीच पापा ने हमारे लिए वो सब किया जिससे कि मां पिघल जाएं और वापस आ जाएं। लेकिन मां तब तक नहीं पिघलीं जब तक पापा ने अपनी लाइफ का वो चैप्टर (वैजयंती माला ) बंद नहीं कर दिया।’