राहुल गांधी सिर्फ कॉमेडियन के साथ काम कर सकते हैं- कैप्टन अमरिंदर के इस्तीफे पर बोले बॉलीवुड फिल्ममेकर

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अपनी पूरी कैबिनेट के साथ मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है। बीते कई महीनों से पंजाब में कांग्रेस के अंदर कलह चल रही थी। नवजोत सिंह सिद्धू को पंजाब कांग्रेस का अध्यक्ष बनाए जाने के बाद अमरिंदर सिंह की नाराजगी और बढ़ गई थी।

पंजाब की सियासत में उठा-पटक के बीच फिल्ममेकर अशोक पंडित ने राहुल गांधी पर चुटकी ली है। तंज कसते हुए फिल्ममेकर अशोक पंडित ने कहा कि अमरिंदर सिंह के इस्तीफे से येसाफ होता है कि राहुल गांधी सिर्फ बुरे कॉमेडियन्स के साथ ही काम कर सकते हैं। इसके अलावा वरिष्ठ पत्रकार पुण्य प्रसून बाजपेयी ने भी एक पोस्ट किया, जिसमें उन्होंने कहा- ‘क्या मुबंई से पंजाब से शिफ्ट होगा कपिल शर्मा शो!’

ज्ञात हो, पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अपनी पूरी कैबिनेट के साथ मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है। बीते कई महीनों से पंजाब में कांग्रेस के अंदर कलह चल रही थी। नवजोत सिंह सिद्धू को पंजाब कांग्रेस का अध्यक्ष बनाए जाने के बाद अमरिंदर सिंह की नाराजगी और बढ़ गई थी। वहीं नवजोत सिंह सिद्धू भी कैप्टन अमरिंदर पर लगातार निशाने साधने दिख रहे थे।

राज्यपाल को इस्तीफा सौंपने के बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि वह सुबह की फैसला कर चुके थे। उनके मुताबिक- ‘मैं बातचीत के लहजे से अपमानित महसूस करता था। मैंने सुबह कांग्रेस अध्यक्ष को अपने इस्तीफे की सूचना दे दी थी। उन्होंने कहा कि बार-बार विधायकों के साथ बैठक की जाती थी। पिछले दो महीनों में यह तीसरी बार हो रहा है, मै समझता हूं कि ऐसा माना जाता है कि मैं सरकार चला नहीं पा रहा हूं। उन्होंने कहा कि पार्टी अध्यक्ष (सोनिया गांधी) को जिस पर भरोसा होगा उसे सीएम बना देंगी।’

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने आगे कि – ‘मैं अब भी कांग्रेस में हूं। मैंने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दिया है। फ्यूचर पॉलिटिक्स हमेशा एक विकल्प होती है और जब मुझे मौका मिलेगा मैं उसका इस्तेमाल करूंगा।’ बता दें, कि कांग्रेस नेता चरणजीत सिंह चन्नी अब पंजाब के नए मुख्यमंत्री होंगे। रविवार को पार्टी विधायक दल ने चरणजीत सिंह चन्नी को नया नेता चुना है और अब वह राज्य के अगले मुख्यमंत्री होंगे। इस बारे में कांग्रेस नेता हरिश रावत ने ट्वीट कर जानकारी दी।

सूत्रों के मुताबिक प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने चन्नी के नाम पर काफी जोर दिया था। उनकी पैरवी के बाद राहुल गांधी ने दिल्ली में गहन सोच विचार के बाद चन्नी के नाम को मंजूरी दी। विधायक दल का नेता चुने जाने के बाद चन्नी राज्यपाल से मिलने राजभवन गए। इस दौरान उनके साथ नवजोत सिंह सिद्धू और हरीश रावत भी नजर आए थे।