रूस में विलय से पहले यूक्रेनी सेना ने डोनेट्स्क में ली बढ़त, तो क्या अब होगा परमाणु युद्ध!

हाइलाइट्स

यूक्रेनी सेना डोनेट्स्क के पूर्वी शहर लाइमैन पर अपनी बढ़त का बढ़ाने में जुटी हुई है
रूस की पकड़ इन क्षेत्रों में कमजोर पड़ी तो पुतिनन्यूक्लियर वेपन भी कर सकते हैं इस्तेमाल
पांच दिनों के जनमत संग्रह में 87% से 99.2% लोगों ने रूस में शामिल होने के पक्ष में दिया मत

कीव. यूक्रेन के चार प्रांतों को रूस में शामिल करने की चल रही तैयारियों के बीच यूक्रेनी सेना डोनेट्स्क के पूर्वी शहर लाइमैन पर अपनी बढ़त बढ़ाने में जुटी हुई है. पुतिन जहां आज डोनेट्स्क समेत तीन अन्य यूक्रेनी प्रांतों को रूस में शामिल करने की आधिकारिक घोषणा करने जा रहे हैं, वहीं यूक्रेनी सेना इन क्षेत्रों से रूस को खदेड़ने में जुटी हुई है. न्यूज़ एजेंसी रॉयटर्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक डोनेट्स्क क्षेत्र के उत्तर में शहर पर कब्जा यूक्रेन के लिए निकटवर्ती लुहान्स्क प्रांत में प्रवेश करने का मार्ग खोल सकता है जिसे रूस ने जनमत संग्रह के नतीजों के बल पर देश में शामिल करने की घोषणा की है.

पुतिन इस्तेमाल कर सकते हैं परमाणु बम
दुनियाभर के लिए चिंता की एक बात यह भी है कि अगर रूस की पकड़ इन क्षेत्रों में कमजोर पड़ी तो पुतिन न्यूक्लियर वेपन भी इस्तेमाल कर सकते हैं. पुतिन ने हाल ही में एक वीडियो संदेश के माध्यम से साफ़ किया था कि मॉस्को जरूरत पड़ने पर रूसी क्षेत्र की रक्षा के लिए परमाणु हथियारों का इस्तेमाल कर सकता है. अब इन क्षेत्रों में रूस ने डोनेट्स्क, लुहान्स्क, ज़ापोरिज्जिया और खेरसॉन को भी शामिल कर लिया है. हालांकि रूस की धमकियों से इतर यूक्रेन अपने क्षेत्रों को वापस लेने के लिए जोर लगा रहा है.

रूस आज कर सकता है शामिल
यूक्रेन के डोनेट्स्क, लुहान्स्क, ज़ापोरिज्जिया और खेरसॉन में आये जनमत संग्रह के नतीजों के बाद आज पुतिन एक भव्य समारोह के बीच इन क्षेत्रों के रूस में विलय की घोषणा कर सकते हैं. रॉयटर्स की एक रिपोर्ट के अनुसार डोनेट्स्क और लुहान्स्क के पूर्वी क्षेत्रों में और दक्षिण में ज़ापोरिज्जिया और खेरसॉन में पांच दिनों तक चले मतदान में 87% से 99.2% तक लोगों ने रूस में शामिल होने के पक्ष में अपना मत दिया है. यह चार प्रांत यूक्रेनी क्षेत्र का लगभग 15% हिस्सा हैं.

Tags: Russia ukraine war