लखीमपुर कांड को लेकर BJP नेता ने लगाया केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा पर आरोप, PM मोदी से की अपील- तुरंत किया जाए बर्खास्त

पूर्व भाजपा विधायक राम इकबाल सिंह ने कहा कि केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के पुत्र ने गाड़ी से किसानों को रौंद कर मार डाला। सुप्रीम कोर्ट के हस्तक्षेप के बाद उसे गिरफ्तार किया गया। लेकिन गृह राज्य मंत्री आज भी कुर्सी पर बने हुए हैं।

बीते 3 अक्टूबर को उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में हुई हिंसक घटना में 8 लोगों की मौत हो गई थी। इस मामले में पुलिस केंद्रीय गृह राज्य मंत्री के बेटे आशीष मिश्रा सहित तीन लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है। (फोटो: पीटीआई)

बीते दिनों उत्तरप्रदेश के लखीमपुर खीरी में हुई हिंसक घटना को लेकर भाजपा नेतृत्व को अपनी ही पार्टी के नेताओं की नाराजगी का सामना करना पड़ रहा है। भाजपा सांसद वरुण गांधी पहले से ही मोर्चा खोले हुए हैं। वहीं अब भाजपा नेता व पूर्व विधायक राम इकबाल सिंह ने भी केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा को लखीमपुर खीरी कांड का साजिशकर्ता बताते हुए प्रधानमंत्री मोदी से तुरंत बर्खास्त करने की मांग की है।

भारतीय जनता पार्टी की उत्तरप्रदेश इकाई के कार्यसमिति सदस्य और पूर्व विधायक राम इकबाल सिंह ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि लखीमपुर कांड के लिए केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा ही दोषी है। साथ ही उन्होंने कहा कि घटना के कुछ दिन पहले केंद्रीय गृह राज्य मंत्री के द्वारा दिए गए धमकी भरे बयान ने ही आग में घी का काम किया। उन्हें तो किसानों से मांगी चाहिए लेकिन वे अपने बेटे को बचाने में लगे हुए हैं। उन्हें इस हिंसक घटना पर तनिक भी पछतावा नहीं है। 

इसके अलावा उन्होंने कहा कि गृह राज्य मंत्री के पुत्र ने गाड़ी से किसानों को रौंद कर मार डाला। सुप्रीम कोर्ट के हस्तक्षेप के बाद उसे गिरफ्तार किया गया। लेकिन गृह राज्य मंत्री आज भी कुर्सी पर बने हुए हैं। ऐसे में प्रधानमंत्री मोदी को उन्हें तत्काल बर्खास्त करना चाहिए। साथ ही उन्होंने कहा कि पिछले दिनों हुई लखीमपुर हिंसा और गोरखपुर में कारोबारी हत्याकांड से भाजपा सरकार की किरकिरी हुई है। 

इस दौरान उन्होंने यह भी कहा कि लखीमपुर हिंसा में भाजपा कार्यकर्ताओं की भी हत्या हुई है। सरकार को उनके ऊपर भी ध्यान देना चाहिए। इस घटना पर सरकार के रुख से प्रदेश भर के कार्यकर्ता दुखी हैं। किसानों की तरह ही सरकार को भाजपा कार्यकर्ताओं और उनके परिवारवालों को मुआवजा एवं सरकारी नौकरी देना चाहिए।

गौरतलब है कि 3 अक्टूबर को उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा ने कथित रूप से प्रदर्शनकारी किसानों पर गाड़ी चढ़ा दी थी। इस हिंसक घटना में आठ लोगों की मौत हो गई थी। इनमें 4 किसान, 3 भाजपा कार्यकर्ता और एक पत्रकार शामिल थे। जिसके बाद इस मामले में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा समेत 14 लोगों के खिलाफ हत्‍या, आपराधिक साजिश सहित कई धाराओं में एफआईआर दर्ज किया गया।  

बीते शनिवार को पुलिस ने केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा को गिरफ्तार कर लिया। बुधवार को आशीष मिश्रा के वकील ने कोर्ट में जमानत याचिका दायर की थी लेकिन कोर्ट ने याचिका खारिज कर दी। पुलिस ने इस मामले में आशीष मिश्रा के दो सहयोगियों लव कुश और आशीष पांडे को भी गिरफ्तार किया है।