लखीमपुर में हुई घटना पर गर्माई UP की राजनीति: किसानों के साथ राकेश टिकैत रवाना, प्रियंका गांधी भी जाएंगी

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि जो इस अमानवीय नरसंहार को देखकर भी चुप है, वो पहले ही मर चुका है। लेकिन हम इस बलिदान को बेकार नहीं होने देंगे।

Lakhimpur Kheri, UP politics, Rakesh Tikait, Priyanka Gandhi, Rahul Gandhi यूपी के लखीमपुर में किसानों ने भाजपा नेता की गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया। (फोटोः ANI)

लखीमपुर में किसानों को गाड़ी से कुचलने के मामले में राजनीति गर्मा गई है। अंदेशा है कि आने वाले कुछ दिनों तक किसान आंदोलन का केंद्र उत्तर प्रदेश के लखीमपुर में बनने वाला है। कांग्रेस, सपा समेत दूसरे बड़े दल को नेताओं ने भी मामले में बीजेपी की भर्त्सना करने के साथ किसानों के साथ खड़े होने की बात कही है। बीकेयू के प्रवक्ता राकेश टिकैत किसानों की मौत की जानकारी मिलते ही निकल पड़े हैं।

किसानों और बीजेपी नेतआों के बीच हुई झड़प पर बीकेयू नेता राकेश टिकैत ने कहा है कि गाड़ियों से किसानों पर हमला किया गया है। उनके उपर फायरिंग भी गई है। अब हम लखीमपुर के लिए निकल रहे हैं और किसानों की बीच में जाकर आगे की अपडेट देते रहेंगे। एक वीडियो संदेश में उन्होंने कहा कि घटना में कई लोगों की मौत की खबर है।

उधर, कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि जो इस अमानवीय नरसंहार को देखकर भी चुप है, वो पहले ही मर चुका है। लेकिन हम इस बलिदान को बेकार नहीं होने देंगे। उन्होंने अपने संदेश में लिखा- किसान सत्याग्रह ज़िंदाबाद!

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने भी बीजेपी सरकार की निंदा की। उनका कहना था कि भाजपा देश के किसानों से कितनी नफरत करती है? उन्हें जीने का हक नहीं है? यदि वे आवाज उठाएंगे तो उन्हें गोली मार दोगे, गाड़ी चढ़ाकर रौंद दोगे? बहुत हो चुका। ये किसानों का देश है, भाजपा की क्रूर विचारधारा की जागीर नहीं है। किसान सत्याग्रह मजबूत होगा और किसान की आवाज और बुलंद होगी।

गौरतलब है कि लखीमपुर खीरी में रविवार को कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों को केंद्रीय राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी के काफिले की गाड़ियों ने कथित तौर पर कुचल दिया। इस घटना में 2 लोगों की मौत और कई लोगों के घायल होने की खबर है। इस हंगामें में हंगामे में तीन गाड़ियों में आग लगा दी गई है। भारी बवाल के बाद फोर्स मौके पर मौजूद है।

यूपी के पूर्व सीएम व सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने ट्वीट कर लिखा है- कृषि कानूनों का शांतिपूर्ण विरोध कर रहे किसानों को भाजपा सरकार के गृह राज्यमंत्री के पुत्र द्वारा, गाड़ी से रौंदना घोर अमानवीय और क्रूर कृत्य है। रालोद नेता जयंत चौधरी ने भी ट्वीट कर लिखा है, लखीमपुर खीरी से दिल दहलाने वाली खबरें आ रहीं हैं! केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा का काफिला आंदोलनकारी किसानों पर चढ़ा दिया गया! 2 किसानों की मौत हो गई और कई घायल हैं। विरोध को कुचलने का काला कृत्य जो किया है, साजिश जब गृह मंत्री रच रहे हैं, फिर कौन सुरक्षित है।