लगातार तीसरे महीने हुआ 1 लाख करोड़ से अधिक GST कलेक्शन, वित्त मंत्रालय ने कहा- पिछले साल से 23 फीसदी ज्यादा

वित्त मंत्रालय ने जानकारी दी कि, सितंबर महीने में दिल्ली में जीएसटी कलेक्शन 3,605 करोड़, उत्तर प्रदेश में 5,692 करोड़ और जम्मू-कश्मीर में 377 करोड़ जीएसटी रेवेन्यू रहा।

gst, gst news अप्रैल 2021 के महीने में जीएसटी राजस्व रिकॉर्ड स्तर पर है। (Photo-Indian Express )

वित्त मंत्रालय ने शुक्रवार को जानकारी दी कि सितंबर महीने में वस्तु और सेवा कर(जीएसटी) का कलेक्शन 1.17 लाख करोड़ रुपये रहा। मंत्रालय ने कहा कि यह लगातार तीसरे महीने में एक लाख करोड़ रुपये से अधिक जीएसटी संग्रह हुआ है। आंकड़ों के मुताबिक सितंबर 2021 का राजस्व संग्रह पिछले साल सितंबर में हुए कलेक्शन से 23 फीसदी अधिक है।

इसको लेकर एक बयान जारी कर वित्त मंत्रालय ने कहा कि, ‘‘सितंबर 2021 में जमा सकल जीएसटी राजस्व 1,17,010 करोड़ रुपये है, जिसमें सीजीएसटी 20,578 करोड़ रुपये, एसजीएसटी 26,767 करोड़ रुपये, आईजीएसटी 60,911 करोड़ रुपये (माल के आयात पर एकत्रित 29,555 करोड़ रुपये सहित) और उपकर 8,754 करोड़ रुपये (माल के आयात पर जमा 623 करोड़ रुपये सहित) है।’’

बता दें कि सीजीएसटी का अर्थ केंद्रीय वस्तु और सेवा कर और एसजीएसटी का अर्थ राज्य वस्तु और सेवा कर है। वहीं आईजीएसटी का मतलब एकीकृत वस्तु और सेवा कर है। सितंबर माह में वस्तुओं के आयात से राजस्व 30 प्रतिशत ज्यादा रहा। इसके अलावा घरेलू लेनदेन (सेवाओं के आयात सहित) से राजस्व पिछले वर्ष सितंबर महीने के मुकाबले 23 प्रतिशत अधिक था।

सितंबर में GST कलेक्शन: वहीं जून 2021 में जीएसटी संग्रह एक लाख करोड़ रुपए से कम हुआ था लेकिन इसके बाद जुलाई, अगस्‍त और सितंबर में जीएसटी कलेक्शन एक लाख करोड़ रुपए से अधिक रहा। पिछले तीन महीनों में जीएसटी संग्रह पर गौर करें तो जहां जून 2021 में 92,849 करोड़, जुलाई में 1.16 लाख करोड़ और अगस्त में 1.12 लाख करोड़ रहा, वहीं अक्टूबर की पहली तारीख इस मामले में सरकार के लिए अच्छी खबर लेकर आई। बता दें कि सितंबर माह में यह कलेक्शन बढ़कर 1.17 लाख करोड़ रुपए हो गया है।

सितंबर में यूपी में हुआ कलेक्शन: वित्त मंत्रालय ने जानकारी दी कि, सितंबर महीने में दिल्ली में जीएसटी कलेक्शन 3,605 करोड़, उत्तर प्रदेश में 5,692 करोड़ और जम्मू-कश्मीर में 377 करोड़ जीएसटी रेवेन्यू रहा। वहीं हिमाचल प्रदेश में जीएसटी कलेक्शन 680 करोड़ रहा।