लाइव शो में संबित पात्रा पर भड़के सपा प्रवक्ता, बोले- क्या उत्तर दोगे, झूठ बोलना इसका धर्म, एक सेकेंड मत दीजिए

सपा प्रवक्ता ने कहा, जितना पैसा इन्होंने चुनाव में खर्चा किया उतना व्यवस्थाओं में खर्च किया होता तो आज यह स्थिति नहीं होती। उन्होंने कहा कि इन्हें जनता नहीं सत्ता प्यारी है।

Oxygen, corona virus

कोरोना महामारी देशभर में तबाही मचा रही है। ऐसे में विपक्ष मोदी सरकार को घेरने में कसर नहीं छोड़ रहा है। चुनाव प्रचार में हुए खर्च को लेकर भी सवाल खड़े किए जा रहे हैं। विपक्षी दलों का कहना है कि जितना खर्च चुनाव प्रचार में किया गया, उतना अगर व्यवस्था को सुधारने में किया गया होता तो यह दिन नहीं देखना पड़ता। इसी मुद्दे को लेकर न्यूज 18 इंडिया की डिबेड में सपा और भाजपा प्रवक्ता आपस में भिड़ गए।

संबित पात्रा ने जब बोलना शुरू किया और कहा कि तीन लोगों को उत्तर देना है मुझे इसलिए मौका दिया जाए। इसपर सपा प्रवक्ता भड़क गए और कहने लगे, तुम क्या उत्तर दोगे, उत्तर प्रदेश में इतनी मौतें हो रही हैं। क्या अस्पताल बनाया आपने? झूठ बोलना आपका काम हो गया है। ऐंकर ने जब कहा कि इन्हें तीस सेकंड दे दीजिए तो सपा प्रवक्ता अनुराग भदौरिया ने कहा, इन्हें एक सेकंड न दीजिए। इन्होंने देश को बर्बाद किया है। इन्होंने एक साल केवल चुनाव प्रचार किया है।

सपा प्रवक्ता ने कहा, जितना पैसा इन्होंने चुनाव में खर्चा किया उतना व्यवस्थाओं में खर्च किया होता तो आज यह स्थिति नहीं होती। उन्होंने कहा कि इन्हें जनता नहीं सत्ता प्यारी है।

जवाब देते हुए संबित पात्रा ने कहा, यहां भद्दी बातें की जा रही हैं। कहा जा रहा है कि तुम्हारा चेहरा नहीं ठीक है, कोई देखना नहीं चाहता। जो लोग कहते थे के वैक्सीन न लगवाना, बीजेपी का वैक्सीन है, वो यहां आकर भाषण दे रहे हैं। उन लोगों को सुनना पड़ेगा और वे लोग हिसाब मांगेंगे। ये तो घर की टोटी तक नहीं छोड़ते हैं। उन लोगों से कुछ सीखने की जरूरत नहीं है।

संबित पात्रा ने कागज दिखाते हुए कहा, ‘7 अप्रैल 2020 को तमाम राज्य सरकारों को केंद्र सरकार ने चिट्ठी लिखी कि आप सभी ऑक्सीजन प्लांट का निर्माण करना शुरू कर दीजिए। सात सात चिट्ठी लिखी गई। लेकिन राज्यों ने कुछ नहीं किया। इन्फ्रास्ट्रक्चर को बढ़ाने को कहा गया। महाराष्ट्र की सरकार ने कहा कि कोई कमी नहीं है। जब कमी नहीं है तो मोदी केयर फंड से आ रहा है और कमी हो जाए तो मोदी जी क्या कर रहे हैं?’