लापता कमिश्नर परमबीर सिंह के घर मुंबई पुलिस ने चस्पा किया नोटिस, वसूली मामले में 12 को तलब

मुंबई पुलिस की टीम परमबीर के घर पर उन्हें सम्मन देने गई थी, लेकिन उन्हें बताया गया कि आईपीएस अफसर अपने घर पर नहीं हैं। पुलिस टीम ने उनके बारे में बारीकी से पूछताछ की पर कोई सुराग नहीं मिला तो घर के बाहर ही नोटिस चस्पा कर दिया गया।

Supreme Court, Maharashtra, Parambir Singh मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह (एक्सप्रेस आर्काइव फोटो)

मुंबई के कमिश्नर रहे परमबीर सिंह का कोई सुराग नहीं मिल रहा है। माना जा रहा है कि वह देश छोड़कर फरार हो चुके हैं। उधर, मुंबई पुलिस ने वसूली के मामले में उन्हें 12 अक्टूबर को तलब किया है। उनके घर के बाहर नोटिस लगाकर उन्हें ताकीद की गई है कि वह क्राईम ब्रांच के सामने पेश हो। परमबीर को इससं पहले भी कई बार तलब किया जा चुका है। पेश न होने पर राज्य के जांच आयोग ने उन पर जुर्माना भी लगाया है।

न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक मुंबई पुलिस की टीम परमबीर के घर पर उन्हें सम्मन देने गई थी, लेकिन उन्हें बताया गया कि आईपीएस अफसर अपने घर पर नहीं हैं। पुलिस टीम ने उनके बारे में बारीकी से पूछताछ की पर कोई सुराग नहीं मिला तो घर के बाहर ही नोटिस चस्पा कर दिया गया।

पुलिस का कहना है कि परमबीर सिंह के खिलाफ जबरन वसूली की चार एफआईआर दर्ज की गई हैं। उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर के पास विस्फोटकों से लदी एसयूवी के मामले में सचिन वाजे की अरेस्ट के बाद मुंबई कमिश्नर पर एनआईए ने शिकंजा कसा था। वाजे को गिरफ्तार किए जाने के बाद परमबीर सिंह का मार्च 2021 में होमगार्ड में तबादला कर दिया गया था। लेकिन उसके बाद मामले में नया मोड़ आ गया।

होमगार्ड में तबादला होने के बाद परमबीर ने सूबे के तत्कालीन गृह मंत्री अनिल देशमुख पर पुलिस अधिकारियों से होटल और बार मालिकों से रिश्वत लेने के लिए कहने का आरोप लगाया था। देशमुख ने इस आरोप से इनकार किया था। लेकिन देशमुख ने बाद में अपने पद से इस्तीफा दे दिया था, क्योंकि सीबीआई ने उनके खिलाफ मामला दर्ज किया था। फिलहाल देशमुख एजेंसियों के निशाने पर हैं। ईडी उन पर खासी मेहरबान है।

खबरों की माने तो पूर्व मुंबई पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह देश छोडकर फुर्र हो चुका है। उसके रूस जाने के कयास लगाए जा रहे हैं। परमबीर सिंह के देश छोड़ने की आशंका को देखते हुए उनके खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किया गया था। लेकिन माना जा रहा है कि वह इससे पहले ही भाग निकला था। उनको लेकर महाराष्ट्र की सत्तारूढ़ पार्टियां बीजेपी पर आरोप लगा रही हैं। महाअघाड़ी का कहना है कि परमबीर बगैर केंद्र की मदद के देश छोड़कर नहीं भाग सकता। हालांकि एक कयास यह भी है कि वह फर्जी पासपोर्ट पर देश से निकला?