लालू की RJD में महाभारत: झुकते नहीं दिख रहे तेज! महाकाव्य का जिक्र कर बोले- दे दो सिर्फ पांच गांव, रखो अपनी धरा तमाम

तेजप्रताप यादव पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह और तेजस्वी यादव के सलाहकार संजय यादव से नाराज चल रहे हैं। शनिवार को उन्होंने यहां तक कह दिया था कि डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव के सलाहकार संजय यादव उनकी हत्या करना चाहते हैं।

RJD, Tej Pratap Yadav, Bihar राजद नेता तेजप्रताप यादव। (फोटो- PTI)

लालू प्रसाद की पार्टी राजद में विवाद कम होता नहीं दिख रहा है। लालू प्रसाद के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव लगातार नाराज चल रहे हैं। रविवार को उन्होंने रश्मिरथी की पंक्तियों के जरिए पार्टी में अपनी हिस्सेदारी मांगी। उन्होंने लिखा कि दे दो सिर्फ पांच गांव रखो अपनी धरा तमाम।

बताते चलें कि तेजप्रताप यादव पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह और तेजस्वी यादव के सलाहकार संजय यादव से नाराज चल रहे हैं। शनिवार को उन्होंने यहां तक कह दिया था कि डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव के सलाहकार संजय यादव उनकी हत्या करना चाहते हैं। जिसके बाद रविवार को उन्होंने फेसबुक पर रश्मिरथी की पंक्ति लिखकर अपने विरोधियों को दुर्योधन तक बता दिया। कविता के माध्यम से उन्होंने अब युद्ध की अंतिम चेतावनी दे दी है।

तेजप्रताप यादव ने आरोप लगाया कि संजय सोशल मीडिया पर उन्हें गाली दिलवा रहे हैं। उनके पास सबूत के तौर पर स्क्रीनशॉट्स भी हैं। सब पर मानहानि का केस किया जाएगा। छोटे भाई को लेकर संजय दिल्ली चले गए। बकौल लालू के बड़े बेटे, “मैं अकेला नहीं हूं। युवा से लेकर पूरी जनता मेरे साथ है। जहां गलत होता था, वहां कृष्ण गुस्सा दिखाते थे। महादेव भी गलत पर नाराज होते थे। मैं तो इंसान हूं। मैं सच के लिए लड़ता हूं, इसलिए लोग परेशान करने का प्रयास करते हैं।”

क्या है पूरा मामला?: प्रदेश अध्यक्ष और तेजप्रताप के रिश्ते काफी दिनों से खराब रहे हैं हाल ही में पार्टी कार्यालय में आयोजित छात्र राजद की बैठक में तेजप्रताप ने जगदानंद सिंह को हिटलर कह दिया था। जिसके बाद वो नाराज हो गए थे। बाद में जब वो वापस कार्यालय आए तो उन्होंने छात्र आरजेडी के अध्यक्ष आकाश यादव की जगह गगन यादव को कमान सौंप दी हालांकि उन्होंने कहा कि छात्र राजद का अब तक कोई अध्यक्ष था ही नहीं। आकाश यादव को हटाए जाने के बाद से तेजप्रताप यादव काफी नाराज हैं। इसके बाद उन्होंने इस मुद्दे पर तेजस्वी यादव से भी मुलाकात करने का प्रयास किया लेकिन कथित तौर पर संजय यादव ने उन्हें मिलने नहीं दिया जिसके बाद वो संजय यादव पर हमलावर हो गए हैं।