लियोनल मेसी ने रिकॉर्ड 7वीं बार जीता बैलन डी’ओर, क्रिस्टियानो रोनाल्डो ने Ballon d’or के चीफ को बताया झूठा

यह पुरस्कार फ्रांस की फुटबॉल पत्रिका बैलन डी’ओर द्वारा 1956 से हर साल सर्वश्रेष्ठ पुरुष फुटबॉलर को दिया जाता है। साल 2018 से इसे महिला वर्ग में भी दिया जा रहा है। दोनों पुरस्कार 2020 में कोरोना महामारी के कारण नहीं दिए गए थे।

Ronaldo has five Ballon dOr awards heading into tonight’s ceremony while Messi has Seven क्रिस्टियानो रोनाल्डो ने अब तक 5 बार बैलन डी’ओर खिताब जीते हैं। लियोनल मेसी के खाते में 7वीं बार यह उपलब्धि आई है।

लियोनेल मेसी ने मंगलवार यानी 30 नवंबर 2021 को रिकॉर्ड सातवीं बार साल का सर्वश्रेष्ठ फुटबॉलर का पुरस्कार मतलब ‘बैलन डी’ओर ’ जीता। उन्होंने बार्सीलोना के साथ आखिरी सत्र में शानदार प्रदर्शन किया था। साथ ही अर्जेंटीना के साथ पहला अंतरराष्ट्रीय खिताब भी जीता था। महिला वर्ग में अलेक्सिया पुतेलास ने बार्सीलोना और स्पेन के लिए अपने शानदार प्रदर्शन के दम पर पुरस्कार जीता।

लियोनल मेसी ने बार्सीलोना के लिए कुल 672 गोल किए हैं। अपने आखिरी सत्र में उन्होंने 38 गोल दागे थे। साथ ही कोपा डेल रे फाइनल भी जीता था। कोपा अमेरिका में उन्होंने चार गोल किए और पांच असिस्ट किए थे। अब वह पेरिस सेंट जर्मेन के लिए खेलते हैं। इस क्लब के लिए वह अब तक नौ मैच में चार गोल कर चुके हैं। मेसी ने क्रिस्टियानो रोनाल्डो से दो बार ज्यादा यह पुरस्कार जीता है। रोनाल्डो इस बार छठे स्थान पर रहे।

यह पुरस्कार फ्रांस की फुटबॉल पत्रिका बैलन डी’ओर द्वारा 1956 से हर साल सर्वश्रेष्ठ पुरुष फुटबॉलर को दिया जाता है। साल 2018 से इसे महिला वर्ग में भी दिया जा रहा है। दोनों पुरस्कार 2020 में कोरोना महामारी के कारण नहीं दिए गए थे। इस बीच, क्रिस्टियानो रोनाल्डो ने बैलन डी’ओर के चीफ पर झूठ बोलने का आरोप लगाया।

क्रिस्टियानो रोनाल्डो ने सोमवार को इंस्टाग्राम पर एक लंबी पोस्ट शेयर की। इसमें उन्होंने बैलन डी’ओर के प्रधान संपादक पास्कल फेरे के उन दावों को झूठा करार दिया, जिसमें कहा गया था कि पुर्तगाल का यह स्टार फुटबॉलर अर्जेंटीना के सुपरस्टार लियोनेल मेसी की तुलना में अधिक बैलन डी’ओर पुरस्कार के साथ रिटायरमेंट लेना चाहता है।

पास्कल फेरे के हवाले से कहा गया था, ‘क्रिस्टियानो रोनाल्डो की केवल एक महत्वाकांक्षा है, और वह है मेसी की तुलना में अधिक बैलन डी’ओर के साथ संन्यास लेना…। मुझे पता है, क्योंकि उसने मुझे बताया है।’ रोनाल्डो ने इस दावे को असत्य बताते हुए पास्कल फेरे पर निशाना साधा। उन्होंने कहा, ‘मैं मेसी से ज्यादा बैलन डी’ओर जीतने के लिए बेताब नहीं हूं।’

34 साल के मेसी के शानदार प्रदर्शन के दम पर अर्जेटीना ने जुलाई में कोपा अमेरिका खिताब जीता था। मेसी ने पुरस्कार जीतने के बाद अनुवादक की मदद से कहा, ‘मैं बहुत खुश हूं। नए खिताबों के लिए लड़ते रहना अच्छा लगता है।’ उन्होंने कहा, ‘पता नहीं अभी कितने साल बाकी है, लेकिन उम्मीद है कि काफी समय है। मैं बार्सीलोना और अर्जेंटीना में सभी साथी खिलाड़ियों को धन्यवाद देना चाहता हूं।’ मेसी के 613 अंक रहे, जबकि पोलैंड के स्ट्राइकर राबर्ट लेवांडोवस्की 580 अंक लेकर दूसरे स्थान पर रहे।

मेसी ने कहा, ‘मैं रॉबर्ट से यह कहना चाहता हूं कि तुम्हारा प्रतिद्वंद्वी होना सम्मान की बात है। हर कोई यह कहेगा कि तुम पिछले साल इसके हकदार थे।’ लेवांडोवस्की ने एक सत्र में बुंदसलीगा में 41 गोल का रिकॉर्ड बनाया, जो जर्मनी के दिग्गज गर्ड म्यूलर से एक गोल अधिक है।

उन्होंने फरवरी से सितंबर तक बायर्न म्युनिख के लिए लगातार 19 मैचों में गोल किए। वह इस सत्र में बायर्न के लिए 20 मैच में 25 गोल कर चुके हैं। चेल्सी और इटली के मिडफील्डर जोर्गिन्हो तीसरे स्थान पर रहे, जबकि रियाल मैड्रिड और फ्रांस के फॉरवर्ड करीम बेंजीमा चौथे स्थान पर रहे।

पुतेलास ने इस साल 42 मैच में 26 गोल किए। उन्होंने चेल्सी के खिलाफ चैंपियंस लीग फाइनल में भी गोल किया था। वह यूएफा की सर्वश्रेष्ठ महिला खिलाड़ी भी रहीं। उन्होंने कहा,‘यह बहुत खास पल है। मैं बहुत भावुक हो गई हूं। मैं अपने साथी खिलाड़ियों को धन्यवाद देना चाहती हूं।’

ये है बैलन डी’ओर विजेताओं की पूरी सूची (1956-2021 तक)

1956: स्टेनली मैथ्यूज, ब्लैकपूल
1957: अल्फ्रेडो डि स्टेफानो, रियल मैड्रिड
1958: रेमंड कोपा, रियल मैड्रिड
1959: अल्फ्रेडो डि स्टेफानो, रियल मैड्रिड
1960: लुईस सुआरेज मिरामोंटेस, बार्सिलोना
1961: उमर सिवोरी, युवेंटस
1962: जोसेफ मसोपस्ट, दुक्ला प्राग
1963: लेव यशिन, डायनमो मॉस्को
1964: डेनिस लॉ, मैनचेस्टर यूनाइटेड
1965: यूसेबियो, बेनफिका
1966: बॉबी चार्लटन, मैनचेस्टर यूनाइटेड
1967: फ्लोरियन अल्बर्ट, फेरेंकवारोस
1968: जॉर्ज बेस्ट, मैनचेस्टर यूनाइटेड
1969: गियानी रिवेरा, एसी मिलान
1970: गर्ड मुलर, बायर्न म्यूनिख
1971: जोहान क्रूफ, अजाक्स
1972: फ्रांज बेकनबाउर, बायर्न म्यूनिख
1973: जोहान क्रूफ, बार्सिलोना
1974: जोहान क्रूफ, बार्सिलोना
1975: ओलेग ब्लोखिन, डायनमो कीव
1976: फ्रांज बेकनबाउर, बेयर्न म्यूनिख
1977: एलन सिमोंसेन, बोरुसिया मोएनचेंग्लादबाक
1978: केविन कीगन, हैम्बर्ग एसवी
1979: केविन कीगन, हैम्बर्ग एसवी
1980: कार्ल-हेंज रुमेनिगगे, बेयर्न म्यूनिख
1981: कार्ल-हेंज रुमेनिगगे, बेयर्न म्यूनिख
1982: पाओलो रॉसी, युवेंटस
1983: मिशेल प्लाटिनी, युवेंटस
1984: मिशेल प्लाटिनी, युवेंटस
1985: मिशेल प्लाटिनी, युवेंटस
1986: इगोर बेलानोव, डायनमो कीव
1987: रुद गुलिट, एसी मिलान
1988: मार्को वैन बास्टेन, एसी मिलान
1989: मार्को वैन बास्टेन, एसी मिलान
1990: लोथर मथायस, इंटर मिलान
1991: जीन-पियरे पापिन, मार्सिले
1992: मार्को वैन बास्टेन, एसी मिलान
1993: रॉबर्टो बग्गियो, युवेंटस
1994: हिस्टो स्टोइचकोव, बार्सिलोना
1995: जॉर्ज वेह, एसी मिलान
1996: मैथियास सैमर, बोरुसिया डॉर्टमुंड
1997: रोनाल्डो, इंटर मिलान
1998: जिनेदिन जिदान, युवेंटस
1999: रिवाल्डो, बार्सिलोना
2000: लुइस फिगो, रियल मैड्रिड
2001: माइकल ओवेन, लिवरपूल
2002: रोनाल्डो, रियल मैड्रिड
2003: पावेल नेदवेद, युवेंटस
2004: एंड्रिया शेवचेंको, एसी मिलान
2005: रोनाल्डिन्हो, बार्सिलोना
2006: फैबियो कैनावारो, युवेंटस-रियल मैड्रिड
2007: काका, एसी मिलन
2008: क्रिस्टियानो रोनाल्डो, मैनचेस्टर यूनाइटेड
2009: लियोनेल मेसी, बार्सिलोना
2010: लियोनेल मेसी, बार्सिलोना
2011: लियोनेल मेसी, बार्सिलोना
2012: लियोनेल मेसी, बार्सिलोना
2013: क्रिस्टियानो रोनाल्डो, रियल मैड्रिड
2014: क्रिस्टियानो रोनाल्डो, रियल मैड्रिड
2015: लियोनेल मेसी, बार्सिलोना
2016: क्रिस्टियानो रोनाल्डो, रियल मैड्रिड
2017: क्रिस्टियानो रोनाल्डो, रियल मैड्रिड
2018: लुका मोड्रिक, रियल मैड्रिड
2019: लियोनेल मेसी, बार्सिलोना
2020: रद्द
2021: लियोनेल मेसी, बार्सिलोना