वनडे, टी-20 नहीं टेस्ट में जसप्रीत बुमराह ने दिलाई युवराज सिंह की याद, स्टुअर्ट ब्रॉड के एक ओवर में बटोरे 35 रन

एजबेस्टन टेस्ट में टीम इंडिया के कप्तान जसप्रीत बुमराह ने युवराज सिंह की याद दिला दी। उन्होंने इंग्लैंड के इस तेज गेंदबाज के एक ही ओवर में 35 रन बटोरे।

जसप्रीत बुमराह। (फोटो-ट्विटर)

युवराज सिंह ने आईसीसी टी-20 वर्ल्ड कप 2007 में इंग्लैंड के तेज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्रॉड को एक ही ओवर में छह छक्का जड़ा था। एजबेस्टन टेस्ट में टीम इंडिया के कप्तान जसप्रीत बुमराह ने बाएं हाथ के इस बल्लेबाज की याद दिला दी। उन्होंने इंग्लैंड के इसी तेज गेंदबाज के एक ही ओवर में 35 रन बटोरे। टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में एक ओवर में सबसे ज्यादा रन बनाने का भी यह रिकॉर्ड है।

बहरहाल टीम इंडिया पांचवें टेस्ट की पहली पारी में 416 रनों पर ऑल आउट हो गई। ऋषभ पंत ने 146 और रविंद्र जडेजा ने 104 रनों की पारी खेली। वहीं बुमराह ने सिर्फ 16 गेंदों पर चार चौके और दो छक्कों की मदद से 31 रन बनाए। ब्रॉड के इस ओवर में बुमराह ने पहली गेंद पर चौका जड़ा। अगली गेंद पर वाइड और चौके कारण 5 रन मिले। इसकी अगली गेंद नो बॉल थी और उसपर बूम-बूम ने छक्का जड़ा। अगली तीन गेंदों पर उन्होंने चौका जड़ा। फिर छक्का जड़ा और अगली गेंद पर सिंगल लिया।

टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में आजतक एक ओवर में 30 रन नहीं बना था। इससे पहले ब्रायन लारा ने साल 2003 में रॉबिन पीटरसन के एक ओवर में 28 रन जड़े थे। वहीं जॉर्ज बेली ने साल 2013 में पर्थ में जेम्स एंडरसन के एक ओवर में 28 रन जड़े थे। साल 2020 में केशव महाराज ने जो रूट के एक ओवर में 28 रन जड़े थे। इस ओवर ने युवराज सिंह की छक्कों की याद दिला दी।

rahu transit 2022, rahu gochar 2022

1 साल तक इन 3 राशि वालों को मिलेगा राहु ग्रह का विशेष आशीर्वाद, महा धनलाभ और तरक्की के प्रबल आसार

Udaipur Kanhaiya Lal death sentence need justice Kanhaiya Lal Wife beheaded BJP leader Nupur Sharma

अगर देश से प्यार है तो अपराधियों के नाम और धर्म लिखो, है दम? कन्हैया की हत्या पर इरफान पठान ने किया ट्वीट तो मिले ऐसे जवाब

पत्रकार सुधीर चौधरी ने ज़ी न्यूज़ से दिया इस्तीफा, पूर्व IAS बोले – अब 2000 के नोट में कौन खोजेगा चिप, लोगों ने दिया ऐसा जवाब

मोदी की गुगली ने सबको क्लीन बोल्ड कर दिया- एकनाथ शिंदे को सीएम बनाए जाने पर फिल्ममेकर का ट्वीट, एक्टर ने भी कसा तंज

वैसे तो बुमराह गेंदबाजी हैं, लेकिन इसी सीरीज में पिछले साल उन्होंने मोहम्मद समी के साथ मिलकर लॉर्डस टेस्ट में शानदार बल्लेबाजी की थी। दोनों ने तब 89 रनों की अटूट साझेदारी की थी। शमी ने 56 और बुमराह ने 34 रनों की नाबाद पारी खेली थी। भारत वह मैच 155 रनों से जीता था। रोहित शर्मा को कोरोना होने के कारण बुमराह इस मैच में कप्तान हैं।

बता दें कि टेस्ट क्रिकेट में 100 रन के अंदर 5 विकेट गंवाने के बाद तीसरी बार टीम इंडिया ने एक पारी में 400 से ज्यादा रन बनाए हैं। इसके साल 2013 में वेस्टइंडिज के खिलाफ 83 रन पर 5 विकेट गंवाने के बाद हुआ था। तब टीम ने 453 रन बनाए थे। वहीं 1983 में वेस्टइंडीज के खिलाफ टीम ने 5 विकेट 92 रन पर खो दिए थे और फिर 451 रन बनाए थे।